कांग्रेस ने भाजपा नेताओं की टिप्पणी को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया
कांग्रेस ने भाजपा नेताओं की टिप्पणी को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया
झारखंड

कांग्रेस ने भाजपा नेताओं की टिप्पणी को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया

news

रांची, 01 अगस्त (हि. स.)। झारखंड कांग्रेस ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे और सुरक्षा कारणों से रिम्स के पेइंग वार्ड से डायरेक्टर क्वार्टर्स में शिफ्ट किये जाने को लेकर भाजपा नेताओं द्वारा की जा रही टिप्पणी को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता छोटू ने शनिवार को कहा कि लालू प्रसाद यादव एकीकृत बिहार में मुख्यमंत्री और केंद्र में मंत्री रह चुके हैं। पार्टी उनके स्वास्थ्य की सलामती चाहती है और सरकार की भी यह नैतिक जिम्मेवारी है कि वह हर किसी के स्वास्थ्य और सुरक्षा का ख्याल रखे। ऐसे में उन्हें यदि रिम्स के पेइंग वार्ड से शिफ्ट किया जा रहा है, तो भाजपा नेताओं के पेट में दर्द क्यों हो रहा है। भाजपा नेता खुद ही बताये कि उनके शीर्ष नेताओं के साथ मौजूदा नेतृत्व ने जिस तरह का व्यवहार किया और साइडलाइन लगा दिया। क्या उसी तरह से सभी दल अपने बड़े नेताअें का अपमान करें। कांग्रेस का चरित्र हमेशा अपने नेताओं का सम्मान करने की रही है। सच तो यह है कि पूरी भाजपा और केन्द्र की सरकार लालू यादव से अब भी खौफ खाती है। इसलिए घटिया बयानबाजी करती है। प्रदेश प्रवक्ताओं ने भाजपा सांसद निशिकांत दूबे के भी उस बयान पर कड़ी नाराजगी व्यक्त किया है, जिसमें भाजपा सांसद ने बाबा बैद्यनाथधाम और वासुकिनाथधाम मंदिर पर उच्चतम न्यायालय के आदेश को राज्य सरकार पर तमाचा बताया था। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय की ओर से कोई तमाचा या घूसा नहीं मारा गया, बल्कि सरकार को कुछ सलाह दी गयी है और सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सरकार और संगठन सिरोधार्य करती है। हर सलाह और आदेश का सम्मान करती है। सच तो यह है कि पूरी राज्य की भाजपा और माननीय सांसद सठिया गए हैं। कोरोना काल में भी ओछी राजनीति, घटिया मानसिकता और सुर्खियों में रहने की हर गतिविधि पर राज्य की जनता पूरी नजर रखे हुए हैं और समय आने पर पूरा हिसाब करेगी। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण/ विनय-hindusthansamachar.in