children-happy-after-opening-anganwadi-center-after-one-year
children-happy-after-opening-anganwadi-center-after-one-year
झारखंड

एक साल बाद आंगनबाड़ी केन्द्र खुलने से बच्चों में खुशी

news

06/04/2021 -कोविड प्रोटोकॉल का पालन कर खुला आंगनबाड़ी केंद्र हजारीबाग, 06 अप्रैल (हि.स.)। कोरोना को देखते हुए कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए हज़ारीबाग जिला में कंटेनमेंट जोन से बाहर मौजूद आंगनबाड़ी केंद्रों को खोल दिया गया है। करीब एक वर्ष बाद आंगनबाड़ी केंद्र खुलने से बच्चों में खुशी का माहौल देखा जा रहा है। बच्चे काफी खुश हैं। वे न केवल इन आंगनवाड़ी केंद्र सह प्रि स्कूल में पढ़ाई कर रहे हैं, बल्कि डांस भी सीख रहे हैं। कोविड के समय में जीवन शैली में आए बदलाव को भी सीखने का काम कर रहे हैं। मास्क लगाने के साथ-साथ हाथ लगातार हाथ धोने, सामाजिक दूरी का पालन करने जैसी बातें भी बच्चों को सिखाई जा रही है। जबरा मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र की सेविका रेनू कुमारी कहती है कि कोविड-19 देखते हुए रोस्टर के तहत प्रत्येक दिन पांच बच्चों को बुलाया जा रहा है। उन्हें शारीरिक दूरी के पालन से लेकर लगातार हाथ धोने की सीख दी जा रही है। बच्चों में उत्साह इस कदर है कि सभी बच्चे एक ही समय आंगनवाड़ी केंद्र सह प्री स्कूल आना चाहते हैं, हालांकि पांच पांच बच्चों को ही बुलाया जा रहा है और शेष दिनों का राशन उन्हें घर में पहुंचा दिया जा रहा है। नए भवन, नए खिलौने व सुंदर पेंटिंग देखकर बच्चे काफी खुश हो रहे हैं। जिला समाज कल्याण पदाधिकारी शिप्रा सिन्हा ने बताया कि आंगनवाड़ी केंद्रों को खोला गया है। पूरी तरह कोविड को लेकर सरकार द्वारा दिये गए एसओपी का पालन किया जा रहा है। बच्चों के अभिभावकों की काउंसलिंग की गई है, ताकि रोस्टर के तहत ही बच्चे आंगनवाड़ी केंद्र आए। उन्होंने कहा कि अगले सप्ताह आंगनवाड़ी केंद्रों के खुलने की स्थितियों की समीक्षा की जाएगी। उसके बाद आगे के निर्णय लेकर कार्रवाई की जाएगी। बहरहाल करीब एक साल बाद आंगनवाड़ी केंद्र खुलने से बच्चों में खुशी देखी जा रही है। श्वेता कुमारी का कहना है कि उसे बहुत मजा आ रहा है। पढ़ाई भी कर रही है। डांस भी कर रही हैं और नाश्ता और खाना भी खा रही है। देखना होगा कि जिस प्रकार से कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है, आंगनबाड़ी केंद्रों को बचाकर कितने दिनों तक चलाया जाता है। हिन्दुस्थान समाचार/ शाद्वल