मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मिला भाजपा का प्रतिनिधिमंडल, सौंपा ज्ञापन

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मिला भाजपा का प्रतिनिधिमंडल, सौंपा ज्ञापन
bjp-delegation-met-chief-electoral-officer-memorandum-submitted

रांची, 14 अप्रैल (हि.स.)। भाजपा के प्रदेश मंत्री सुबोध सिंह गुड्डू के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपा। यह ज्ञापन जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त देवघर के द्वारा मधुपुर विधानसभा क्षेत्र में झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के पक्ष में काम करने एवं जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के उल्लंघन के संबंध में दिया गया। प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि मधुपुर विधानसभा उपचुनाव 17 अप्रैल को होना है। उपचुनाव में जिस तरह देवघर उपायुक्त पूरे मधुपुर विधानसभा क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं उससे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि वे शुद्ध रूप से झामुमो के कार्यकर्ता हैं। 13 अप्रैल को मधुपुर क्षेत्र में विभिन्न जगहों पर क्षेत्र भ्रमण एवं बैठक करने से संबंधित उपायुक्त के द्वारा एक टंकित पर्ची जारी किया गया है। जिसमें यह दर्शाया गया है कि किन किन स्थानों पर कितने बजे उपायुक्त क्षेत्र का भ्रमण करेंगे। इस तरह का पर्ची छपवाकर क्षेत्र भ्रमण करना चुनाव के समय किसी भी उपायुक्त का पूरे भारत में यह पहला मामला है। उपायुक्त चुनाव में झामुमो के उम्मीदवार को लाभ पहुंचाने के लिए एवं उनका जीत सुनिश्चित करने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं और हर जगह जा जाकर सरकार की उपलब्धियों एवं उम्मीदवार के गुण बता रहे हैं। यह कार्य न सिर्फ पूरी तरह से सर्विस कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन है, बल्कि आदर्श चुनाव आचार संहिता को चुनौती देने जैसा है। उपायुक्त के देखरेख में मधुपुर विधानसभा उपचुनाव शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष चुनाव कराना नामुमकिन एवं असंभव है। इस मामले के अलावा 14 अप्रैल को सुबह में कांग्रेस के विधायक इरफान अंसारी ने देवघर बाबा बैद्यनाथ मंदिर के गर्भ गृह में जाकर पूजा-अर्चना किये और अर्मादित, धार्मिक उन्माद फैलाने जैसा शब्दों का प्रयोग भी किये। आश्चर्य है कि दूसरे धर्म के व्यक्ति को मंदिर में पूजा करने की अनुमति उपायुक्त, एसपी दे दिया। गौरतलब है कि बैद्यनाथ मंदिर में हिन्दू धर्म को छोड़कर किसी अन्य धर्म के व्यक्ति के जाने एवं पूजन अर्चन करने पर पूरी तरह पाबंदी है। विधायक के इस कार्य पर पूरे विधानसभा क्षेत्र में तनाव का माहौल है और कभी भी भारी दंगा हो सकता है। अत: निवेदन है कि देवघर उपायुक्त को चुनाव होने तक चुनाव कार्य से मुक्त करने की कृपा करें। साथ ही विधायक के खिलाफ रासुका का उल्लंघन करने एवं दंगा भड़काने के प्रयास के आरोप में तत्काल उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज एवं गिरफ्तारी का आदेश देने की कृपा करें। इसके अलावा तत्काल प्रभाव से उपायुक्त, एसपी को बर्खास्त करें। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण