प्रशासन ने 28 चिकित्सकों और 73 स्वास्थ्यकर्मियों को 27 को एक बजे तक योगदान देने की दी मोहलत

प्रशासन ने 28 चिकित्सकों और 73 स्वास्थ्यकर्मियों को 27 को एक बजे तक योगदान देने की दी मोहलत
administration-granted-permission-to-28-doctors-and-73-health-workers-to-contribute-till-27-o39clock

रांची, 26 अप्रैल (हि.स.)। वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण से झारखंड ही नहीं पूरा देश परेशान है। ऐसी स्थिति में कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज करना डॉक्टरों का परम कर्तव्य है लेकिन कई ऐसे डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मी है जो इस कार्य से अनुपस्थित पाए जा रहे हैं। जिला प्रशासन रांची की ओर से ऐसे कुल 28 डॉक्टरों और 73 स्वास्थ्य कर्मियों की लिस्ट जारी की गई है। जिन्हें 27 अप्रैल एक बजे दिन तक योगदान करने का समय दिया जा रहा है। अगर वह नियत समय पर योगदान नहीं करते हैं तो जिला प्रशासन आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 56 तथा सीआरपीसी की सुसंगत धाराओं के तहत कड़ी कार्रवाई करेगा। 28 डॉक्टरों को एक बजे तक का समय जिला प्रशासन की ओर से डॉ राकेश कुमार, डॉ आलोक कुमार, डॉ रुना तिग्गा, डॉ मधु तंवर, डॉ स्वाति सिन्हा, डॉ लाल मांझी, डॉ शोभा किस्पोट्टा, डॉ अनुजा साधना कच्छप, डॉ सुम्मी, डॉ चंचल अशोक सहित कुल 28 चिकित्सकों को 27 अप्रैल को दोपहर एक बजे तक योगदान देने का समय दिया गया है। 73 स्वास्थ्यकर्मियों को भी एक बजे तक योगदान करने का समय जिला प्रशासन की ओर से 73 स्वास्थ्य कर्मियों किरण कुमारी, सोनी प्रसाद, शेफाली कुमारी, इतवारी टूटी, चंचला कुमारी, रेशमा बाड़ा, उमा कुमारी, स्नेहा कुमारी, इंदु कुमारी, सुमिता किड़ो सहित कुल 73 स्वास्थ्य कर्मियों को भी 27 अप्रैल दोपहर एक बजे तक प्रतिनियुक्ति स्थल पर अपना योगदान देने का समय दिया गया है। अतः सभी चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों को अपने अपने कार्यस्थल पर अपना योगदान देकर कार्य करने का निर्देश दिया जाता है। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास