अपर मुख्य सचिव ने किया इटकी आरोग्यशाला का निरीक्षण, दिया निर्देश

अपर मुख्य सचिव ने किया इटकी आरोग्यशाला का निरीक्षण, दिया निर्देश
additional-chief-secretary-inspected-itki-arogyashala-gave-instructions

रांची, 20 जून (हि. स.)। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह ने रविवार को इटकी स्थित आरोग्यशाला का निरीक्षण किया। उन्होंने मेडिको सिटी निर्माण के लिए चिन्हित भूमि का भी एवं मेडिको सिटी के लिए चिन्हित भूमि का ले-आउट प्लान योजनाबद्ध तरीके से प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। आरोग्यशाला भवन के सभाकक्ष में मेडिको सिटी के निर्माण के लिए पीपीटी का प्रस्तुतीकरण परामर्श के द्वारा प्रस्तुत किया गया। अरुण कुमार सिंह ने निर्देश दिया कि अन्य राज्य में निर्मित मेडिको सिटी का अध्ययन कर कंप्रेहेसिव रिपोर्ट का प्रस्तुतीकरण किया जाए ताकि अधिक से अधिक प्राइवेट क्षेत्र के कंपनियों को आकर्षित किया जा सके। इटकी आरोग्यशाला में कोविड-19 की तीसरी लहर के बचाव के लिए ऑक्सीजन सप्लाई एवं पाइपलाइन लगाते हुए आईसीयू और अन्य ऑक्सीजन युक्त बेड लगाने की तैयारी चल रही है। उन्होंने अंचल अधिकारी को 350 एकड़ जमीन का सीमांकन एवं उक्त भूमि का खतियान (1932) का गुलजारबाग, पटना से मंगवा कर रकर्ड अधतन करने का निर्देश दिया। आरोग्यशाला में चिकित्सकों एवं अन्य कर्मियों के स्वीकृत बल के अनुसार रिक्त सीटों को भरने का भी निर्देश दिया। उन्होंने आरोग्यशाला के अधीक्षक को यह निर्देश दिया कि सर्वे में राज्य में लगभग 16677 लोगों में टीबी रोग के लक्षण पाए गए हैं। इन मरीजों के इलाज के लिए एक एसओपी तैयार कर प्रस्तुत किया जाए। अपर मुख्य सचिव ने आरटीपीसीआर लैब, वीआरएल लैब का भी निरीक्षण किया गया। लैब में अधिक से अधिक कोविड-19 की जांच के लिए निर्देश दिया। उन्होंने आरोग्यशाला में विगत पांच वर्षों से चल रहे निर्माण और मरम्मत के कार्यों का वर्षवार आवंटन एवं खर्च की विस्तृत विवरण की मांग की। उन्होंने निर्देश दिया कि मेडिको सिटी में कौन कौन से सुपर स्पेशलिटी अस्पताल की आवश्यकता है उसकी भी विवरणी पीपीटी के माध्यम से प्रस्तुत किया जाए। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण

अन्य खबरें

No stories found.