action-plan-fixed-for-availability-of-electricity-road-and-water-chief-minister
action-plan-fixed-for-availability-of-electricity-road-and-water-chief-minister
झारखंड

बिजली, सड़क और पानी की उपलब्धता के लिए कार्ययोजना तय: मुख्यमंत्री

news

-मुख्यमंत्री ने ग्रिड सब-स्टेशन की रखी आधारशिला, संतालपरगना वासियों को दी सौगात -बोले, जिन योजनाओं का लाभ संतालपरगना को नहीं मिला, उसका लाभ मिलेगा -बच्चों को डॉक्टर इंजीनियर बनाना है तो उन्हें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देना होगा बरहेट/रांची , 24 जनवरी (हि.स.)। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने 70 करोड़ की लागत से बनने वाले 132/33 केवी ग्रिड सब स्टेशन बरहेट-किताजोर (साहिबगंज) तथा 132 केवी पाकुड़-राजमहल (लिलो) संचरण लाइन का शिलान्यास किया। साहिबगंज का बरहेट प्रखण्ड पिछड़े इलाके में आता है तथा कई मूलभूत सुविधाएं इस क्षेत्र तक नहीं पहुंच सकी हैं। इसे देखते हुए सरकार ने क्षेत्र के समग्र विकास के लिए समस्याओं को चिन्हित किया है। अब इस योजना के शिलान्यास से साहिबगंज में विधुत आपूर्ति में कोई बाधा नहीं होगी। साथ ही, बरहेट प्रखण्ड के किसी भी गांव में बिजली की कोई दिक्कत नहीं रहेगी। लंबे समय से बरहेट के लोग कई सरकार की योजनाओं के लिए आशान्वित होते रहें हैं। उसे पूरा किया जाएगा। संतालपरगना के जिन क्षेत्रों में विकास की योजनाएं नहीं पहुंची हैं, उसे कैसे पहुंचाया जाए। उसपर कार्य हो रहा है। बरहेट को अनुमंडल बनाने की दिशा में भी पुख्ता कार्य किया जा रहा है। ये बातें मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने रविवार को कहीं। मुख्यमंत्री 132/33 केवी ग्रिड सब स्टेशन बरहेट-किताजोर (साहिबगंज) तथा 132 केवी पाकुड़-राजमहल (लिलो) संचरण लाइन के शिलान्यास समारोह में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य को आगे बढ़ाना है, विकास के पथ पर आगे लाना है तो सड़क, पानी और बिजली बेहद जरूरी है। विकास की नई रणनीति बनाई है मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास के लिए झारखण्ड सरकार ने कई योजनाओं के ज़रिए विकास की नई रणनीति बनाई है। 100 मेगावाट सब स्टेशन निर्माण की आधारशिला रखी गई है, जो करीब दो वर्ष में बन कर तैयार हो जाएगा। करीब पांच हजार किमी बिजली की लाइन बिछाई जाएगी। ताकि लोगों के घरों तक बिजली पहुंच सके। इन सब कार्यों की प्रगति रिपोर्ट पर सरकार की नजर रहेगी। 15 लाख लोगों को राशन कार्ड से आच्छादित किया मुख्यमंत्री ने कहा कि राशन कार्ड से वंचित लोगों को हरा राशन कार्ड प्रदान करने का कार्य सरकार कर रही है। पेंशन योजना का लाभ करीब छः लाख जरूरतमंदों को दिया जा रहा है। धोती-साड़ी योजना का लाभ जल्द राज्यवासियों को मिलेगा। हम राज्य में बदलाव लाने को तैयार हैं। कोरोना संक्रमण का धुंध छटने के साथ ही बदलाव भी नजर आयेगा। कोरोना से सुरक्षित रहने की जरूरत मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार लगातार कोरोना वायरस अपना चेहरा बदल रहा है, उसमें हम सभी को और भी सुरक्षित रहने की ज़रूरत है। कई पाबंदियां हैं। स्कूल और कॉलेज बंद हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से हर ज़िले में मॉडल विद्यालय शुरू करने के साथ-साथ पहली से 12वीं कक्षा तक सीबीएसई की पढ़ाई शुरू करने की योजना बनाई गई है। क्योंकि अगर राज्य के बच्चों को डॉक्टर इंजीनियर बनाना है तो उन्हें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देना होगा। इनका हुआ शिलान्यास एवं उद्घाटन -पतना हिरणपुर के छह किलोमीटर में गुमानी नदी पर उच्चस्तरीय पुल निर्माण का शिलान्यास। -तकनीकी सुविधाओं से लैस मॉडल स्कूल बरहेट साहिबगंज का ऑनलाइन उद्घाटन एवं कस्तूरवा गांधी बालिका उच्च विद्यालय भवन बरहेट का उद्घाटन। -साहिबगंज तथा गोड्डा अंतर्गत विभिन्न विकास योजना का भी मुख्यमंत्री ने उद्घाटन तथा शिलान्यास किया। परिसंपत्तियों का भी हुआ वितरण मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना, वन पट्टा, कृषि ऋण, कन्यादान योजना, प्रधानी पट्टा, वृद्धा पेंशन योजना, ग्रीन राशन कार्ड योजना, जेएसएलपीएस अन्तर्गत कैश लोन लिंकेज, सामुदायिक वन अधिकार पट्टा एवं फूलो-झानो योजना के तहत लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों का वितरण किया गया। मौके पर ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम, राजमहल सांसद विजय हांसदा, प्रधान सचिव ऊर्जा विभाग अविनाश कुमार, उपायुक्त साहिबगंज राम निवास यादव, मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार अभिषेक प्रसाद व अन्य उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार /वंदना-hindusthansamachar.in