1417 करोड़ रुपये काटना टकराव बढ़ाने वाला कदम : कांग्रेस
1417 करोड़ रुपये काटना टकराव बढ़ाने वाला कदम : कांग्रेस
झारखंड

1417 करोड़ रुपये काटना टकराव बढ़ाने वाला कदम : कांग्रेस

news

रांची, 16 अक्टूबर (हि. स.)। कांग्रेस ने केंद्र सरकार की ओर से डीवीसी के बकाया के नाम पर 1417 करोड़ रुपये काट लिये जाने के इस फैसले को टकराव बढ़ाने वाला कदम करार दिया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता ने शुक्रवार को बताया कि डीवीसी की कई छोटी-बड़ी परियोजनाएं झारखंड के कोयला और पानी पर निर्भर है। इन परियोजनाओं से झारखंड की एक बड़ी आबादी को विस्थापन का दंश झेलना पड़ा और अब भी प्रदूषण की मार झेलने को विवश है। इसके बावजूद राष्ट्र की मजबूती के लिए झारखंडवासियों ने त्याग करने का काम किया, लेकिन अब डीवीसी सारी हदों को पार करने में लगा है। कभी डीवीसी की ओर से बिजली काट दी जा रही है, तो कभी राज्य के कई हिस्सों को अंधेरा में डूबोने की धमकी जा रही है। प्रवक्ताओं ने कहा कि डीवीसी की इसी मनमानी को रोकने के लिए राज्य सरकार की ओर से संचारण व्यवस्था को मजबूत कर लिया गया है। विभिन्न क्षेत्रों में ग्रिड लाईन और सब स्टेशन निर्माण से डीवीसी पर आत्मनिर्भरता कम हो रही है। वहीं डीवीसी जितनी अधिक राशि की वसूली करता है, उससे कम प्रति यूनिट में ही दूसरी कंपनी से अब झारखंड को बिजली जाएगी। इसी एकाधिकार टूटने के डर से डीवीसी द्वारा इस तरह का घटिया कदम उठाया जा रहा है। जल्द ही पार्टी बैठक कर केंद्र सरकार के इस रवैये पर ठोस आंदोलनात्मक कार्यक्रम की रूपरेखा तय करेगी। उन्होंने कहा कि झारखंड के कोयला से पूरे देश को बिजली मिलता है, लेकिन एक साजिश के तहत झारखंड को ही अंधेरा करने और विकास को बाधित करने की साजिश रची जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण/वंदना-hindusthansamachar.in