हादसा  : सेप्टिक टैंक में उतरे चार मजदूरों की दम घुटने से मौत
हादसा : सेप्टिक टैंक में उतरे चार मजदूरों की दम घुटने से मौत
झारखंड

हादसा : सेप्टिक टैंक में उतरे चार मजदूरों की दम घुटने से मौत

news

रांची, 14 अक्टूबर (हि.स.)। झारखंड के गढ़वा जिले के कांडी थाना क्षेत्र के डूमर सोता गांव में बुधवार सुबह सेप्टिक टैंक में उतरे चार मजदूरों की दम घुटने से मौत हो गई। घटना के बाद ग्रामीण और मजदूरों के परिजन उग्र हो गये और मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया । बताया जाता है कि कांडी थाना के समीप दुबे के मकान के पास शौचालय की टंकी का सेटरिंग निकालने के दौरान चार मजदूरों की मौत हो गयी। मृत मजदूरों में डूमरसोता गांव के मिथिलेश कुमार मेहता (35), अनिल कुमार मेहता (25), नागेंद्र मेहता (19) और प्रवीण मेहता (20) का शामिल है। मृतकों में दो भाई और पिता-पुत्र शामिल हैं। मृतकों में शामिल मिथिलेश और अनिल कुमार मेहता भाई हैं। जबकि मृतक नागेंद्र मेहता मिथिलेश मेहता का पुत्र है। बताया जा रहा है छह महीने पहले ठेकेदार मिथिलेश मेहता ने ही सेप्टिक टैंक की ढलाई की थी। सुबह मिथिलेश मेहता ने प्रवीण को सेप्टिक टैंक के अंदर भेजा। इसके बाद खुद मिथिलेश अंदर पहुंचा। फिर नागेंद्र भी सेप्टिक टैंक में उतरा। जब अंदर से कोई आवाज और हलचल नहीं हुई तो आखिर में अनिल कुमार मेहता भी सेप्टिक टैंक में उतर गया। सभी मजदूर अखिलेश दुबे के नवनिर्मित सेफ्टिक टैंक का सेटरिंग खोलने के लिए टंकी के अंदर प्रवेश किए, वैसे ही बेहोश होकर गिर पड़े। चारों मजदूर बारी-बारी से टंकी के अंदर एक दूसरे को बचाने के ख्याल से प्रवेश करते गए। जिस दौरान चारों अचेतन अवस्था में वहीं पर गिर पड़े। आसपास के लोगों की मदद से सभी मजदूर को बाहर निकाल कर प्राथमिक उपचार के लिए कांडी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर के नहीं रहने के कारण सभी मजदूरों को निजी वाहन से रेफरल अस्पताल मझिआंव भेजा गया। इस संबंध में प्रभारी डॉ कमलेश कुमार ने बताया कि सभी मजदूर रेफरल अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ चुके थे। घटना के बाद डूमरसोता गांव तथा आसपास के सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित लोग कांडी स्वास्थ्य केंद्र के पास मुख्य सड़क पर पहुंच गए। सड़क पर टायर जलाकर आवागमन को बाधित कर दिया गया है। जाम में दर्जनों वाहन फंसे हुए हैं। पुलिस आंदोलनकारियों को समझाने में लगी हुई है। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास/वंदना-hindusthansamachar.in