हाथों में हुनर है, तो किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं होगी : मुख्यमंत्री
हाथों में हुनर है, तो किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं होगी : मुख्यमंत्री
झारखंड

हाथों में हुनर है, तो किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं होगी : मुख्यमंत्री

news

दुमका, 16 सितंबर(हि. स.)। हाथों में हुनर है,तो किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं होगी। उक्त बातें सदर प्रखंड के हरिपुर पंचायत भवन में आयोजित सरकार आपके द्वार कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को कही। उन्होंने कहा कि आज के समय में हुनरमंद होना बहुत ही आवश्यक है। कोरोना महामारी के दौरान रोजगार की समस्या जरूर उत्पन्न हुई है। लेकिन इस वक्त भी हुनरमंद लोगों की मांग हर जगह है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिलाई सेंटर में जो भी कमियां हैं। उसे दूर किया जाएगा। भविष्य में आवश्यकता के अनुसार इसी प्रकार के और भी सिलाई सेंटर प्रशिक्षण केंद्र खोले जाएंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षित होना बहुत ही जरूरी है। शिक्षित नहीं रहने के कारण लोगों को कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। सरकार का संकल्प है,लोगों को हुनरमंद बनाना सरकार का संकल्प है कि लोगों को हुनरमंद बनाकर अपने पैरों पर खड़ा किया जाए। हमारे बच्चे बच्चियां हुनरमंद होकर आगे आएं और राज्य तथा देश के विकास में अपना योगदान दें। 50 सखी मंडल की महिलाओं को 50 लाख रुपये का चेक समर्पित कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने 50 सखी मंडल की महिलाओं को 50 लाख रुपये का चेक समर्पित किया। इस दौरान विभिन्न विभागों के परिसंपत्तियों का वितरण तथा स्वीकृति पत्र का भी वितरण मुख्यमंत्री ने किया। लाभुकों के बीच केसीसी लोन,मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के तहत लाभ तथा नए राशन कार्ड का वितरण किया गया। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने हरिपुर पंचायत भवन स्थित सिलाई प्रशिक्षण केंद्र का अवलोकन किया तथा महिलाओं से बातचीत कर उनकी समस्याओं को जाना। डीसी राजेश्वरी बी ने कहा इस प्रशिक्षण केंद्र में 600 से अधिक महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह सभी महिलाएं स्कूल यूनिफार्म, मास्क आदि बनायेंगी। सभी महिलाओं को सिलाई कढ़ाई का प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण प्राप्त कर निश्चित रूप से महिलाएं सशक्त होंगी। हिन्दुस्थान समाचार/नीरज/वंदना-hindusthansamachar.in