हथिनी की मौत की जांच कराकर दोषियों को मिले सजा : भाकपा
हथिनी की मौत की जांच कराकर दोषियों को मिले सजा : भाकपा
झारखंड

हथिनी की मौत की जांच कराकर दोषियों को मिले सजा : भाकपा

news

मेदिनीनगर, 17 जुलाई (हि.स.)। पलामू टाइगर रिजर्व के बेतला नेशनल पार्क में हुई हथिनी की मौत के बाद पलामू टाइगर रिज़र्व संदेह के घेरे में आ चुका है। यह बात भाकपा के ज़िला सचिव रुचिर कुमार तिवारी ने कही। वह शुक्रवार को पत्रकारों के साथ बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पलामू टाइगर रिजर्व के द्वारा जानवरों के रखरखाव इलाज एवं खाने-पीने में भारी लापरवाही बरती जा रही है। पलामू टाइगर रिजर्व के नाम पर करोड़ों रुपया का घोटाला कर पदाधिकारी आपस में डकार जा रहे हैं और जानवरों का भी चारा खा जा रहे हैं। यही हाल हथिनी का भी हुआ। प्रारंभिक लक्षण में हथिनी को नमुनिया के लक्षण पाए गए थे। लेकिन पलामू टाइगर रिजर्व के पदाधिकारियों के द्वारा इस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। इसके कारण हथिनी की मौत हो गई। इससे पूर्व में भी एक बाघिन की मौत भूख से हुई थी, जिसमें भी इनके अनियमितता का मामला उजागर हुआ था। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी पलामू जिला परिषद व उपायुक्त पलामू से यह मांग करती है कि विशेष अधिकार का प्रयोग कर हथिनी की मौत की जांच करा कर इसमें दोषी पदाधिकारियों पर कार्रवाई की जाए, ताकि वन्य प्राणी का जीवन सुरक्षित रह सके। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/वंदना-hindusthansamachar.in