स्वास्थ्य मंत्री ने निजी आरटीपीसीआर लैब का किया उद्घाटन
स्वास्थ्य मंत्री ने निजी आरटीपीसीआर लैब का किया उद्घाटन
झारखंड

स्वास्थ्य मंत्री ने निजी आरटीपीसीआर लैब का किया उद्घाटन

news

हजारीबाग, 17 सितंबर (हि.स.)। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने हजारीबाग कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड हॉस्पिटल में श्री निवास सेंटर फार साइंटिफिकरिसर्च एंड डेवलपमेंट के मालिक्यूलर (निजी) आरटीपीसीआर लैब का उद्घाटन किया। मंत्री ने कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के नियंत्रण में यह लैब आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा आंकड़ों को गिनाना नहीं बल्कि लोगों का अधिक से अधिक टेस्ट करवाना है, ताकि इसके संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने कहा कि हजारीबाग मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल के आरटीपीसीआर लैब को मैनुअल के स्थान पर तकनीक आधारित करने का निर्देश उपायुक्त को दिया गया है। साथ ही सभी जरुरी सुविधाएं भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के लिए 100 ट्रू नेट मशीन खरीदने का आदेश दिया गया है। इन मशीनों का उपयोग कोरोना के साथ-साथ टीबी सहित अन्य रोगों की जांच के लिए भी किया जाएगा। राज्य में चिकित्सकों व कर्मियों की कमी का जिक्र किए जाने पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि एमसीआई के प्रावधान के तहत राज्य में 90,000 लोगों की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने इस दिशा में कुछ नहीं किया। उनकी सरकार आने के साथ ही कोरोना ने राज्य को घेर लिया, लेकिन सरकार इस कमी को दूर करने के लिए प्रयत्नशील है। निजी नर्सिंग होम द्वारा लोगों के आर्थिक शोषण व जानमाल के नुकसान की बात कहे जाने पर उन्होंने कहा कि ऐसी किसी भी शिकायत पर वे त्वरित कार्रवाई करेंगे और उनका लाइसेंस भी रद्द करेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/शाद्वल/वंदना-hindusthansamachar.in