सामूहिक दुष्कर्म के खिलाफ भाजयुमो ने निकाला कैंडल मार्च
सामूहिक दुष्कर्म के खिलाफ भाजयुमो ने निकाला कैंडल मार्च
झारखंड

सामूहिक दुष्कर्म के खिलाफ भाजयुमो ने निकाला कैंडल मार्च

news

पाकुड़,14अक्टूबर(हि.स.)। साहिबगंज जिला के पतना प्रखंड (साहिबगंज)के लखीपुर गांव की नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म एवं हत्या के विरोध में जिला भाजयुमो ने बुधवार को स्थानीय अंबेडकर चौक से गांधी चौक तक कैंडल मार्च निकाला।जिसका नेतृत्व भाजयुमो जिलाध्यक्ष प्रसन्ना मिश्रा ने किया। मार्च में प्रमुख रूप से भाजपा जिलाध्यक्ष बलराम दूबे,पूर्व विधायक वेणी प्रसाद गुप्ता ,नगर परिषद अध्यक्ष सम्पा साहा, उपाध्यक्ष सुनील कुमार सिन्हा, अनुग्राहित प्रसाद साह, हिसाबी राय आदि शामिल थे। मौके पर भाजयुमो के जिलाध्यक्ष प्रसन्ना मिश्रा ने कहा कि झारखंड की बहन बेटियां अब सुरक्षित नहीं रह गई हैं। हर दिन कोई न कोई बलात्कार की घटना घट रही है। नतीजतन झारखंड की बहन बेटियां अपने को असुरक्षित समझने लगी हैं। उन्होंने कहा कि साहिबगंज जिला के लखीपुर की 13 साल की नाबालिग आदिवासी बेटी के साथ हुए इस जघन्य अपराध की घटना में पुलिस की भूमिका भी संदिग्ध है।जो निंदनीय है।मैं इसकी तीव्र निंदा करता हूँ।उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस मामले की लीपापोती में लगी हुई है। पीड़िता की मां ने थाने में जाकर शिकायत की थी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।हताश व निराश परिजनों ने पीड़िता के शव को दफना दिया। उन्होंने कहा कि यह सब सूबे के मुखिया हेमंत सोरेन के विधानसभा क्षेत्र में हो रहा है। इससे समझा जा सकता है कि संपूर्ण राज्य की क्या स्थिति हो गई है। उन्होंने कहा कि भाजयुमो दोषियों की अविलंब गिरफ्तारी व सख्त सजा देने की मांग करता है। मौके पर अमृत पांडेय, मनीष कुमार पांडेय, मोनू तिवारी, अनिकेत गोस्वामी, अशोक प्रसाद, रूपाली सरदार, पवन भगत, सादेकुल आलम, साधना ओझा आदि अनेकों मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/ रवि /वंदना-hindusthansamachar.in