सांसद ने की केंद्रीय पर्यटन मंत्री से मुलाकात
सांसद ने की केंद्रीय पर्यटन मंत्री से मुलाकात
झारखंड

सांसद ने की केंद्रीय पर्यटन मंत्री से मुलाकात

news

रांची, 16 अक्टूबर (हि. स.)। रांची के सांसद संजय सेठ ने शुक्रवार को दिल्ली में केंद्रीय राज्य मंत्री पर्यटन एवं संस्कृति प्रल्हाद सिंह पटेल से मुलाकात की। साथ ही उनके साथ बैठक कर रांची लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत पर्यटन के विकास के लिए विस्तारपूर्वक चर्चा की। सांसद ने बताया कि रांची स्थित टैगोर हिल जो गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर के अग्रज का निवास स्थान था। यह सभी वर्गों के लिए एक महत्वपूर्ण स्थल है। इस स्थल के संरक्षण के लिए झारखंड सरकार द्वारा भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) को इसके संरक्षण संबंधित (डीपीआर) को वेटिंग (वेटिंग ) के लिए आग्रह किया गया, जो अभी तक लंबित है। इस पर गंभीरता पूर्वक विचार करते हुए त्वरित कारवाई की जाए। इसके साथ ही रांची पहाड़ी जो फांसी टुगरी के नाम से भी प्रसिद्ध है। वर्तमान में यह एक धार्मिक एवं पर्यटन का एक बड़ा केंद्र है। इस पहाड के ऊपर भगवान शिव का एक मंदिर स्थापित है जो रांची के लोगों के लिए धार्मिक आस्था का प्रतीक है। रांची लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत हुंडरु फॉल ,जोन्हा फॉल, दशम फॉल, पर्यटकों के लिए बड़े आकर्षण का केंद्र रहा है। यहां पर बड़ी संख्या में पर्यटक घूमने आते हैं। पर्यटन की दृष्टि से यहां मूलभूत सुविधा की काफी कमी है। बुढ़मू स्थिति तिरु फॉल एक अद्भुत स्थल है, जो चारों दिशाओं से प्राकृतिक छटा से घिरा हुआ है। अब यह स्थल पर्यटक के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया है। रांची से करीब 63 किलोमीटर की दूरी पर सिल्ली के जंगल प्राकृतिक की दृष्टि से काफी ही आकर्षक है। यहां सफारी की व्यवस्था पर्यटकों को प्राकृतिक के नजदीक लाने का एक सफल प्रयास होगा। रांची जिला स्थित कांके डैम एवं रूका डैम को जल पर्यटन के रुप में विकसित किया जा सकता है। यहां बोटिंग के अतिरिक्त अन्य कई जल से संबंधित इवेंट किये जा सकता है। रांची जमशेदपुर मार्ग पर स्थित चांडिल डैम रांची एवं जमशेदपुर के निवासियों व सैलानियों का आकर्षण का केंद्र है। पर्यटन एवं जल संबंधित खेलकूद कि सुविधा प्रदान करने से यह क्षेत्र काफी विकसित हो सकता है। पर्यटन के साथ-साथ छोटे-छोटे रोजगार भी उपलब्ध हो सकेंगे। रांची स्थित टैगोर हिल एव हुडरु फॉल में पर्यटन के दृष्टि से रोप की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। रांची से 66 किलोमीटर की दूरी पर मैक्लुस्कीगंज देश की एक महत्वपूर्ण एंग्लो इंडियन उपनिवेश है। यहां के आकर्षक बंगलो और चारों और स्थित प्राकृतिक छटा अद्भुत है। यहां पर पर्यटकों के सुविधा को ध्यान में रखते हुए यहां विकसित किया जाना अत्यंत आवश्यक है। प्रत्येक वर्ष यहां पर बाहर से बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। इन सभी योजनाओं को अपने मंत्रालय के विभिन्न योजनाओं के तहद इन स्थलों के विकास के लिए उचित कार्रवाई सुनिश्चित करें, ताकि रांची लोकसभा क्षेत्र में पर्यटन के विकास के साथ यहां के लोगों को भी रोजगार उपलब्ध हो पाएगा। केंद्रीय मंत्री ने गंभीरता पूर्वक सभी बातों को सुनते हुए इस पर नियमसंगत जल्द कार्रवाई का आश्वासन दिया। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण/वंदना-hindusthansamachar.in