सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का स्तर बढ़ाने का गंभीर प्रयास जरूरी : डीसी
सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का स्तर बढ़ाने का गंभीर प्रयास जरूरी : डीसी
झारखंड

सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का स्तर बढ़ाने का गंभीर प्रयास जरूरी : डीसी

news

खूंटी, 5 नवंबर ( हि.स.) । उपायुक्त शशि रंजन की अध्यक्षता में गुरुवार को आयोजित बैठक में शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा की गयी। बैठक के दौरान उपायुक्त ने कहा कि वर्तमान समय की आवश्यकता है कि हम सब मिलकर सरकारी विद्यालयों में शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के सार्थक प्रयास करें। इस दौरान उपायुक्त ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि ऑनलाइन क्लास व डिजिटल रूप से छात्र.छात्राओं को बेहतर शिक्षा प्रदान करना जरूरी है। इसके साथ ही उन्होंने जिला शिक्षा अधीक्षक को निर्देशित किया कि शिक्षा विभाग से सम्बंधित कार्यों की विस्तृत रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाए। रिपोर्ट में पिछले दो महीनों में विभाग द्वारा दिये गए निर्देश एवं उनके अनुपालनए प्राथमिकए माध्यमिक एवं उच्च विद्यालयों की संख्या एवं वर्तमान स्थितिए विद्यालयों में उपलब्ध कराए गए टैबलेट की संख्या एवं आवश्यकताए विद्यालयों की आधारभूत संरचनाओं को विकसित करने की आवश्यक व्यवस्था एवं समस्याएंए छात्रावास की वर्तमान स्थितिए टीएचआर एवं अन्य योजना के तहत राशन की उपलब्धता एवं वितरणए शैडो इलाकों की सूची जहां ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा नहीं मिल पा रही है, बच्चों को वितरित की गयी किताबों व शिक्षण सामग्री, शिक्षकों के वेतन से सम्बंधित समस्याओं व वेतन समय पर नहीं दिए जाने के कारण आदि की विस्तृत रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश डीसी ने दिया। डीसी ने कहा कि विस्तृत मूल्यांकन रिपोर्ट के आधार पर चर्चा की जानी चाहिए। इस दौरान उपायुक्त ने विद्यालयों को बेहतर रूप में विकसित करने पर विशेष जोर दिया। मौके पर जिला शिक्षा अधीक्षक डाॅ महेंद्र पांडेय ने समिति को जानकारी दी गयी कि विभाग द्वारा प्राप्त निर्देश के आलोक में जिले के सरकारी प्रारंभिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों को विभिन्न ग्रेडों में प्रोन्नति देने के लिए आपसी वरीयता निर्धारण करने का आदेश प्राप्त है। इस संदर्भ में विभागीय निर्देशानुसार पांच अक्टूबर को औपबंधिक वरीयता सूची का प्रकाशन किया गया। बैठक के दौरान सम्बंधित प्रतिवेदन के आधार पर तैयार मास्टर वरीयता सूची का अवलोकन किया गया एवं सर्वसम्मति से इसे अनुमोदित किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/वंदना-hindusthansamachar.in