संवैधानिक प्रावधानों के तहत टाना भगतों की समस्याओं का समाधान निकाले सरकार: समीर उरांव
संवैधानिक प्रावधानों के तहत टाना भगतों की समस्याओं का समाधान निकाले सरकार: समीर उरांव
झारखंड

संवैधानिक प्रावधानों के तहत टाना भगतों की समस्याओं का समाधान निकाले सरकार: समीर उरांव

news

रांची, 04 सितम्बर ( हि.स.) भारतीय जनता पार्टी के सांसद व प्रदेश महामंत्री समीर उरांव ने कहा कि महात्मा गांधी और जतरा टाना भगत के अनुयायी सनातन परंपराओं के संवाहक टाना भगतों की समस्याओं का समाधान निकाले सरकार। उन्होंने शुक्रवार को प्रदेश कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि लातेहार जिला के अंतर्गत चंदवा के पास अप और डाउन रेललाइन को पिछले तीन दिनों से अपनी विभिन्न मांग को लेकर टाना भगत ने जाम कर रखा है। सरकार उनकी सुनने को तैयार नहीं है। सरकार को चाहिए कि संवैधानिक प्रावधानों के तहत टाना भगतों के समस्याओं का समाधान निकाले। टाना भगतों से जाकर सरकार बात करें। यह समुदाय गांधी जी के सिद्धांतों पर जीता है। खादी के सफेद कपड़े पहनते हैं। मांस-मदिरा ही नहीं लहसुन-प्याज से भी दूर रहते हैं। जो उपजाते हैं, वही खाते हैं। समुदाय के प्रवर्तक जतरा टाना भगत 1888 में जन्मे थे। उन्होंने कहा कि 1920 में टाना भगत समुदाय पहली बार महात्मा गांधी के संपर्क में आया तो उनका अनुयायी बन गया। सरकार गांधी जी के अनुयायियों के आंदोलन को समाप्त कराए। हिंदुस्थान समाचार /विनय/एकबाल सबा-hindusthansamachar.in