शैलेंद्र ने प्लाज्मा डोनेट करने का संकल्प लिया, हुए कोलकाता रवाना
शैलेंद्र ने प्लाज्मा डोनेट करने का संकल्प लिया, हुए कोलकाता रवाना
झारखंड

शैलेंद्र ने प्लाज्मा डोनेट करने का संकल्प लिया, हुए कोलकाता रवाना

news

धनबाद, 14 अक्टूबर (हि.स.) । कोरोना वायरस से संक्रमित कोलकाता के खिदिरपुर में रहने वाले शैलेंद्र सिंह का निरसा पॉलिटेक्निक में उपचार किया गया। 12 दिन के उपचार के बाद वे स्वस्थ हो गए और कोलकाता के लिए प्रस्थान किए। प्रस्थान करने से पूर्व उन्होंने निरसा पॉलिटेक्निक की बेहतरीन व्यवस्था के लिए धनबाद डीसी सह अध्यक्ष, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार, उमा शंकर सिंह समेत अस्पताल के नोडल पदाधिकारी डॉ. विकास कुमार राणा, पर्यवेक्षक अमित कुमार, वार्ड बॉय सुरज कुमार ठाकुर, सुनील गोप, दीपक गोराई, सुरक्षा कर्मी सबिर अहमद, सुभाशीष गोप समेत पूरे मेडिकल टीम की खूब प्रशंसा की। सिंह ने बताया कि वे किसी काम के सिलसिले में 4 अक्टूबर को कोलकाता से झारखंड आ रहे थे। इस क्रम में एनएच-2 चेक पोस्ट पर उनकी कोविड जांच की गई। जांच में वे पॉजिटिव मिले। इसके बाद उन्हें निरसा पॉलिटेक्निक में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण और घर से दूर, अन्य राज्य के कोविड अस्पताल में रहने की कल्पना से वे काफी असहज महसूस करने लगे। परंतु जब अस्पताल में भर्ती हुए तब वहां के नोडल पदाधिकारी डॉ. विकास कुमार राणा ने उनका मानसिक परामर्श किया और सभी कर्मचारियों ने उनका हौसला बुलंद कराया। कुछ समय बिताने के बाद मन स्थिर हुआ। थोड़ी देर में पौष्टिक भोजन और दवाइयां देकर उपचार शुरू किया गया। उन्होंने कहा कि निरसा पॉलिटेक्निक के हवादार कमरे, नियमित रूप से साफ सफाई, भोजन और नाश्ता में पौष्टिक आहार, मेडिकल टीम व अन्य कर्मचारियों का अच्छा व्यवहार और नियमित ट्रीटमेंट के बाद उन्होंने 9 दिन में वैश्विक माहमारी के विरुद्ध जंग को जीत लिया। ट्रिटमेंट के दौरान कई बार टेलीमेडिसिन स्टूडियो से चिकित्सकों ने उनका मानसिक परामर्श किया। शैलेंद्र सिंह ने कहा कि जरूरत पड़ने पर वे अन्य गंभीर मरीजों के लिए अपना प्लाज्मा डोनेट करेंगे। साथ ही किसी भी प्रकार की सेवा देने के लिए हमेशा तत्पर रहेंगे। उन्होंने लोगों से अपील की कि कोरोना से बचने के लिए मास्क लगाएं, नियमित हैंड वॉश करें, बाहर निकलते वक्त शारीरिक दूरी का पालन करें। इसके बाद अपना डिस्चार्ज सर्टिफिकेट लेकर सुखद अनुभव को साथ लेकर वे कोलकाता के लिए प्रस्थान किए। हिन्दुस्थान समाचार / बिमल /विनय-hindusthansamachar.in