शिक्षा मंत्री की हालत गंभीर, चेन्नई से आए डॉक्टर अपार जिंदल की देखरेख में हो रहा है इलाज
शिक्षा मंत्री की हालत गंभीर, चेन्नई से आए डॉक्टर अपार जिंदल की देखरेख में हो रहा है इलाज
झारखंड

शिक्षा मंत्री की हालत गंभीर, चेन्नई से आए डॉक्टर अपार जिंदल की देखरेख में हो रहा है इलाज

news

रांची, 19अक्टूबर (हि.स.)। झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है। वह मेडिका में इलाज रत हैं। इसे देखते हुए राज्य सरकार की पहल पर चेन्नई के लंग्स ट्रांसप्लांट विशेषज्ञ डॉक्टर अपार जिंदल अपने तीन सदस्यीय टीम के साथ रांची के मेडिका अस्पताल पहुंचे हैं। रविवार देर रात विमान से राज्य सरकार की पहल पर चेन्नई से रांची डॉक्टर को बुलाया गया था। मेडिका पहुंचने के बाद डॉक्टर फिलहाल शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की जांच कर रहे हैं। यह उम्मीद जताई जा रही है कि सोमवार को शिक्षा मंत्री को एयर एंबुलेंस से चेन्नई ले जाया जा सकता है। फिलहाल, वेे वेंटिलेटर पर हैं और उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। इसे लेकर चेन्नई से लंग्स ट्रांसप्लांट के विशेषज्ञ डॉक्टर अपार जिंदल को बुलाया गया है। चिकित्सकों ने शिक्षा मंत्री को वेंटिलेटर पर रखा है ।फिलहाल आर्टिफिशियल लंग्स लगाकर ऑक्सीजन सपोर्ट किया जा रहा है। शिक्षा मंत्री को एक्मो सपोर्ट पर रखने के बाद डॉक्टर अपार जिंदल और डॉक्टर मुरली उनके स्वास्थ्य की समीक्षा करेंगे। अगर एक्मो सपोर्ट से शिक्षा मंत्री के स्वास्थ्य में सुधार होता है तो आज उन्हें बेहतर इलाज के लिए चेन्नई ले जाया जा सकता हैं। मंत्री बादल पत्रलेख ने बताया कि अगले दो- तीन घंटे तक शिक्षा मंत्री के लिए दवा के साथ -साथ लोगों के दुआ की भी जरूरत है। अगर दो-तीन घंटे में उनके स्वास्थ्य में सुधार देखा जाता है तो फिर उन्हें चेन्नई शिफ्ट किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि एक अक्टूबर को रिम्स से मेडिका अस्पताल में शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो को शिफ्ट किया गया था। शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो की कोरोना जांच रिपोर्ट 28 सितंबर को पॉजिटिव आई थी। तबीयत बिगड़ने पर उन्हें बोकारो जिले स्थित पैतृक आवास से एंबुलेंस के सहयोग से रांची लाकर रिम्स के कोविड -19 वार्ड में भर्ती कराया गया था। सर्दी, जुकाम, बुखार और बदन दर्द के कारण शिक्षा मंत्री को सांस लेने में कठिनाई महसूस हो रही थी। उनकी कोरोना जांच कराई गई और रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद तत्काल 108 नंबर एंबुलेंस को सूचना दी गई और मौके पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उन्हें तुरंत रिम्स में भर्ती करने का निर्णय लिया था। इसके बाद उन्हें मेडिका में भर्ती कराया गया था। मेडिका में भी इलाजरत झारखंड के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हो रहा है। लगभग 22 दिनों से वह मेडिका अस्पताल में इलाजरत है। शिक्षा मंत्री के बेहतर स्वास्थ्य को लेकर मुख्यमंत्री लगातार नजर बनाए हुए हैं। साथ ही राज्य की कृषि मंत्री बादल पत्रलेख मेडिका में रहकर लगातार उनका हालचाल ले रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास/विनय-hindusthansamachar.in