रेलवे में निजीकरण के खिलाफ एडीआरएम के समक्ष हुआ प्रदर्शन
रेलवे में निजीकरण के खिलाफ एडीआरएम के समक्ष हुआ प्रदर्शन
झारखंड

रेलवे में निजीकरण के खिलाफ एडीआरएम के समक्ष हुआ प्रदर्शन

news

रामगढ़, 17 जुलाई (हि.स.) । रेलवे में निजीकरण के खिलाफ शुक्रवार को बरकाकाना एडीआरएम कार्यालय के समक्ष सीटू के बैनर तले प्रदर्शन किया गया। सीटू के केंद्रीय समिति के आवाहन पर 16 एवं 17 जुलाई को अखिल भारतीय विरोध दिवस का आवाहन किया गया था। सीटू के जनरल सेक्रेटरी तपन सेन ने कहा कि कोयला श्रमिकों ने रेलवे के निजीकरण को वापस लेने के नारे के साथ एडीआरएम कार्यालय, बरकाना के समक्ष प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार 109 रूट पर चलने वाली यात्री ट्रेनों को टाटा जैसी कंपनियों के हाथ में सौंपना चाहती है। सरकार के इस निर्णय को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। राष्ट्रीय प्रगतिशील वर्कर्स यूनियन सेंट्रल कमिटी के पदाधिकारी आर पी सिंह, सीटू के पदाधिकारी धनेश्वर तूरी, बासुदेव साव, संजय शर्मा, सुदर्शन प्रसाद ने गेट मीटिंग को संबोधित किया है। पदाधिकारियों ने कहा कि केंद्र सरकार को तत्काल अपने प्रस्ताव को वापस लेना चाहिए। उनका यह निर्णय ना तो जनहित में है और ना ही कर्मचारियों के हित में। रेलवे इस देश की रीढ़ है और इसे निजी हाथों में सौंपने से देश की जनता का ही नुकसान है। इस कार्यक्रम के दौरान शांति और सामाजिक दूरी बनाए रखी गई। हिन्दुस्थान समाचार/अमितेश/वंदना-hindusthansamachar.in