रिकवरी मैनेजर बनकर युवक से साढ़े छह लाख की ठगी
रिकवरी मैनेजर बनकर युवक से साढ़े छह लाख की ठगी
झारखंड

रिकवरी मैनेजर बनकर युवक से साढ़े छह लाख की ठगी

news

हजारीबाग, 16 अक्टूबर (हि.स.)। बैंक आफ इंडिया का रिकवरी मैनेजर होने का झांसा देकर साइबर ठग द्वारा बरकट्ठा डीह निवासी विवेकानंद से लगभग साढ़े छह लाख की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। इस बाबत पीड़ित युवक ने बरकट्ठा थाना में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है। विवेकानंद द्वारा थाना में दिए गए आवेदन में कहा गया है कि 25 सितंबर को मोबाइल नंबर 7908403989 से उसके मोबाइल पर फोन कर एक व्यक्ति ने खुद को बैंक ऑफ इंडिया झारखंड एवं बिहार का ऋण रिकवरी व चार चक्के के वाहनों का फाइनेंशियल मैनेजर बताया। उसने अपना नाम रामकुमार सिंह पता खिदिरपुर कोलकाता निवासी बताया। उसने विवेकानंद को बैंक से साढ़े आठ लाख रुपए तक के लोन दिलाने की बात कह छह लाख 42 हजार रुपए सिक्युरिटी मनी जमा करने को कहा। उसकी बातों पर विश्वास करते हुए विभिन्न शाखाओं से छह लाख 42 हजार रुपए उसके बताए कोटक महिन्द्रा बैंक धनबाद शाखा में ट्रांसफर किया। प्राथमिकी में पीड़ित युवक ने कहा कि पैसे ट्रांसफर करने के बाद मुझे बैंक ऑफ इंडिया के लेटरपैड पर महिन्द्रा स्कार्पियो गाड़ी डिलीवरी से संबंधित पत्र मिला। आठ अक्टूबर को गाड़ी डिलीवरी देने के नाम पर पचास हजार रुपए फिर से मांग की गई, तब अपने पैसे वापस करने की बात कही। इसके बाद उसने उसके साथ अभद्र व्यवहार किया और जान मारने की धमकी दी। पुलिस ने बरकट्ठा थाना में कांड संख्या 177/20 अंकित कर मामले की तहकीकात शुरु कर दी है। हिन्दुस्थान समाचार/शाद्वल/वंदना-hindusthansamachar.in