राष्ट्रीय कृषि बाजार, ई-नाम पोर्टल के जरिए व्यापार करनेवाले राज्यों की सूची में  झारखंड शीर्ष पांचवें स्थान पर पहुँचा
राष्ट्रीय कृषि बाजार, ई-नाम पोर्टल के जरिए व्यापार करनेवाले राज्यों की सूची में झारखंड शीर्ष पांचवें स्थान पर पहुँचा

राष्ट्रीय कृषि बाजार, ई-नाम पोर्टल के जरिए व्यापार करनेवाले राज्यों की सूची में झारखंड शीर्ष पांचवें स्थान पर पहुँचा

रांची, 07 सितम्बर ( हि.स.)। ई-नाम पोर्टल के जरिए कृषि उत्पादों के व्यापार मामले में झारखंड ने छत्तीसगढ़, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और तेलंगाना जैसे अब तक के अग्रणी राज्यों को भी पीछे छोड़ दिया है। जारी ताजा रैंकिंग के अनुसार महाराष्ट्र पहले स्थान पर है, वहीं झारखंड को पांचवें स्थान पर रखा गया है। राष्ट्रीय कृषि बाजार कार्यालय, रांची के पणन सचिव अभिषेक आनंद ने सोमवार को इस उपलब्धि के लिए राज्य के किसान भाईयों को बधाई दी है। आनंद ने बताया कि लौकडाउन के दौरान किसानों की तैयार फसल को उनके खेतों से सीधे बाजार तक पहुंचाया ही गया, पहली बार यहाँ की सब्जी विदेश तक भेजने की शुरुआत की गई। इस खबर पर हर्ष व्यक्त करते हुए किसानों ने भी केन्द्र सरकार के प्रयासों की सराहना की। गौरतलब है कि झारखंड की 19 मंडियां ई-नाम पर रजिस्टर्ड हैं। केवल लौकडाउन के दौरान इन मंडियों ने लगभग 32 लाख रुपए से अधिक का व्यवसाय किया है। हिंदुस्थान समाचार /विनय/ सबा एकबाल-hindusthansamachar.in

Last updated