महिलाओं तथा बच्चों के पुनर्वास के उद्देश्य से बना उज्ज्वला गृह
महिलाओं तथा बच्चों के पुनर्वास के उद्देश्य से बना उज्ज्वला गृह
झारखंड

महिलाओं तथा बच्चों के पुनर्वास के उद्देश्य से बना उज्ज्वला गृह

news

मेदिनीनगर, 15 अक्टूबर (हि.स.)। पलामू प्रमंडल झारखंड अंतर्गत मानव तस्करी की शिकार महिला, बच्चों के रोकथाम, बचाव, पुनर्वास, पुनः एककीकरण के उद्देश्य से गुरुवार को शाहपुर के बिरसा नगर में उज्ज्वला गृह का उद्घाटन प्रशिक्षु आईएएस दिलीप प्रताप सिंह शेखावत ने किया। मौके पर प्रशिक्षु आईएएस ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मानव तस्करी को निपटाने के लिए सामूहिक प्रयास करने पर बल दिया है। इसी क्रम में महिला, बाल विकास एवम सामाजिक सुरक्षा विभाग झारखंड सरकार तथा महिला एवं बाल विकास विभाग भारत सरकार के सौजन्य से उज्ज्वला गृह के संचालन की ज़िम्मेदारी ग्रामीण समाज कल्याण विकास मंच, पलामू को मिली है। इसके लिए आज बिरसा नगर, शाहपुर वार्ड नम्बर 33, मेदिनीनगर नगर निगम में उज्ज्वला गृह का उद्घाटन किया गया है। उज्ज्वला गृह इस नाते भी अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि इसे गढ़वा, पलामू तथा लातेहार तीनों जिले के तस्करी मुक्त महिलाओं एवम बच्चों के पुनर्वास के लिए बनाया गया है। उन्होंने बताया आम तौर पर देखा गया है कि गरीबी, अशिक्षा, बंधुआ मजदूरी, देह व्यापार, सामाजिक असमानता इत्यादि के रूप में मानव तस्करी की जाती है। इसे रोकने के लिए जिला प्रशासन के सभी विभाग साथ में समन्वय बनाकर कार्य करने के लिए कटिबद्ध है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/वंदना-hindusthansamachar.in