महाअष्टमी पर उमड़ा आस्था का सैलाब, कहीं नही दिखा कोरोना का खौफ
महाअष्टमी पर उमड़ा आस्था का सैलाब, कहीं नही दिखा कोरोना का खौफ
झारखंड

महाअष्टमी पर उमड़ा आस्था का सैलाब, कहीं नही दिखा कोरोना का खौफ

news

खूंटी, 24 अक्टूबर(हि. स.)। दुर्गा महाअष्टमी के मौके पर माता के आठवें स्वरूप महागौरी की पूजा-अर्चना धूमधाम और पूरी नेम-निष्ठा के साथ की गयी। माता की आराधना में लोगों की आस्था कोरोना पर भारी दिखी। मंदिरों, देवी मंडपों और पंडालों में सुबह से ही महिलाओं की भारी भीड़ जुटने लगी थी। महिलाओं ने अपनी संतान की सुख-समृद्धि के लिए उपवास रखा और पूजा-अर्चना की। पूर्वाह्न 11.27 में संधि पूजा के बाद पंडालों में ईख और कुष्मांड की बलि दी गयी। जरियागढ़, रायसिमला, ईचा सहित कई गांवों में संधि बलि में बकरे की बलि दी गयी। जिला मुख्यालय के चैधरी मुहल्ला स्थित पूजा पंडाल में सुबह चार बजे से ही महिलाएं पूजा-अर्चना के लिए कतार में लग गयी थीं। नेताजी चैक स्थित सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति के अलावा भगत सिंह चैक, बाजार टांड़, तोरपा रोड सहित अन्य पंडालों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ मातारानी की पूजा-अर्चना के लिए उमड़ पड़ी। श्रद्धालुओं में कोरोना का कोई खौफ नजर नहीं आया। सामाजिक दूरी के पालन की बात तो दूर, अधिकतर श्रद्धालु बिना मास्क के ही पंडालों में नजर आये। हालांकि पूजा समितियों द्वारा भक्तों के बीच मास्क का निःशुल्क वितरण किया गया। महाअष्टमी के मौके पर माता दुर्गा की आरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया। खूंटी शहर में लगभग एक दर्जन स्थानों पर प्रतिमा स्थापित कर मां दुर्गा की पूजा अर्चना की जा रही है। इस बार गाइड लाइन के अनुसार पूजा पंडालों और प्रतिमाओं के आकार विगत वर्षों से छोटे हैं तथा विद्युत सजा भी अपेक्षाकृत कम है। विधि व्यवस्था बनाये रखने के लिए सभी पूजा पंडालों व प्रमुख क्षेत्रों में दंडाधिकारियों के साथ पुलिस बल की तैनाती की गयी है। जिला मुख्यालय के अलावा तोरपा, तपकारा, डोड़मा, कर्रा, जरियागगढ़ रनिया, मुरहू, अड़की सहित अन्य ग्रामीण इलाकों में भी महाष्टमी की पूजा श्रद्धा-भक्ति से की गयी। कई जगहों पर महानवमी की भी पूजा की गयी। रविवार कों हवन और आरती के बाद नवरात्र अनुष्ठान का समापन हो जायेगा। राय बहादुर ठाकुरदास जयसवाल का पौराणिक मंदिर में हुई पूजा-अर्चना मुरहू स्थित राय बहादुर ठाकुरदास जायसवाल के पौराणिक मंदिर में भी मात दुर्गा की पूजा-अर्चना हर्षाेल्लास के साथ की गयी। झारखंड प्रदेश प्रोफेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष आदित्य विक्रम जायसवाल ने महाअष्टमी के अवसर पर मां दुर्गा का पूजा अनुष्ठान किया। इस अवसर पर जायसवाल ने पौराणिक मान्यता के आधार पर विधिवत रूप से मां भवानी की पूजा कर राज्य के कल्याणए खुशहालीए समृद्धि की कामना की। राय बहादुर ठाकुरदास जायसवाल के पौत्र रांची के प्रथम मेयर शिव नारायण जायसवाल भी इसमें शामिल हुए। गौरतलब हो कि राय बहादुर ठाकुरदास जयसवाल के पौराणिक मंदिर सन् 1840 ई से मां दुर्गा पूजा होती आ रही है। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल /वंदना-hindusthansamachar.in