मस्जिद के दो मौलाना, सदर और सचिव के खिलाफ प्राथमिकी
मस्जिद के दो मौलाना, सदर और सचिव के खिलाफ प्राथमिकी
झारखंड

मस्जिद के दो मौलाना, सदर और सचिव के खिलाफ प्राथमिकी

news

रामगढ़, 02 अगस्त (हि.स.) । शारीरिक दूरी के उल्लंघन और कोरोना संक्रमण के खतरे में लोगों को डालने को लेकर मस्जिद के दो मौलाना, सदर और सचिव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई है। इस संबंध में डीसी संदीप सिंह ने बताया कि बकरीद पर्व को लेकर जिले में पहले ही लॉक डाउन की घोषणा की गई थी। सभी प्रकार के सामूहिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगाया गया था। यहां तक की बकरीद की नमाज घर में पढ़ने की अपील लोगों से की गई थी। लेकिन शहर के अंजुमन मिल्लतुल मुस्लेमीन मस्जिद, नईसराय में सभी नियमों का उल्लंघन किया गया। कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा बकरीद पर्व के अवसर पर अनिवार्य रूप से शारीरिक दूरी का पालन करने का निर्देश दिया गया था। लेकिन नईसराय मस्जिद के समीप कुछ लोगों के द्वारा बिना मास्क लगाकर भीड़ जमा की गई। जिससे जान बूझ कर अपनी व अन्य लोगों के स्वास्थ्य को खतरे में डालने का काम किया गया। लोगों की सुरक्षा खतरे में डालने के आरोप में अंजुमन मिल्लतुल मुस्लेमीन मस्जिद, नईसराय के इमाम मौलाना मोजीब, मुअज्जिन, सदर अब्दुल रजाक अंसारी, सचिव जिल्लानी अनवर सहित अन्य 80-85 लोगों के विरुद्ध सुसंगत धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। डीसी संदीप सिंह ने बताया कि रामगढ़ में यह पहला मामला है, जहां धर्म की आड़ में नियमों का उल्लंघन किया गया है। इस मामले में नियमानुसार कानूनी कार्रवाई होगी। हिन्दुस्थान समाचार/अमितेश /वंदना-hindusthansamachar.in