मजदूर किसान नौजवान व बेरोजगारों का हो रहा है शोषण: उमाशंकर अकेला
मजदूर किसान नौजवान व बेरोजगारों का हो रहा है शोषण: उमाशंकर अकेला
झारखंड

मजदूर किसान नौजवान व बेरोजगारों का हो रहा है शोषण: उमाशंकर अकेला

news

हजारीबाग, 15 अक्टूबर (हि.स.)। बरही में गुरुवार को विधायक उमाशंकर अकेला यादव ने हजारों समर्थकों के साथ बरही ब्लॉक मैदान से रैली निकाली। ट्रैक्टर पर सवार होकर किसानों ने मोदी तेरी तानाशाही नहीं चलेगी, मोदी सरकार हाय हाय, किसानों का काला कानून वापस लो, बलात्कारियों को फांसी दो, रैयतों को उचित मुआवजा दो जैसे नारे लगाए। रैली बरही के धनबाद रोड होते हुए कोनरा स्थित रियाडा अधिग्रहित भूमि पर जनसभा में बदल गई। विधायक ने कहा कि यह सभा किसानों को लेकर लाए गए काला कानून को वापस लेनेे, हाथरस कांड के दोषियों को फांसी, बेरोजगार को रोजगार, रियाडा प्रभावित किसानों को चार गुणा मुआवजा दिलाने, कोनरा कब्रिस्तान जाने का रास्ता अविलंब खोलने, मृतक बालक के परिजनों को मुआवजा दिलाने, अतिक्रमण के नाम पर शोषण करना बंद करनेे, व्यापारियों का शोषण दोहन करना बंद करनेे को लेकर किया गया है। उन्होंने केन्द्र सरकार पर मजदूर, किसान, व्यापारियों, नौजवान, बेरोजगारों का शोषण करने का आरोप लगाया। हजारीबाग रोड में अतिक्रमण को लेकर कहा कि प्रशासन के द्वारा गलत तरीके से कार्रवाई की जा रही है। सर्विस रोड के ऊपर बने दुकानों को जेसीबी मशीन लगा कर तोड़ा जा रहा था, जिसे रुकवाने का काम उन्होंने किया। पूर्व विधायक पर पलटवार करते हुए कहा कि महाभारत उन्हें भी करना आता है, लेकिन कृष्ण बनकर दुर्योधन बनकर नहीं। अकेला यादव सामने से लड़ना जानता है, पीठ पीछे नहीं। उन्होंने पूर्व विधायक द्वारा यादव समाज को बरगलाने का आरोप लगाया। हिन्दुस्थान समाचार/शाद्वल/वंदना-hindusthansamachar.in