नप अध्यक्ष व कार्यपालक पदाधिकारी की रसाकसी में विकास ठप
नप अध्यक्ष व कार्यपालक पदाधिकारी की रसाकसी में विकास ठप
झारखंड

नप अध्यक्ष व कार्यपालक पदाधिकारी की रसाकसी में विकास ठप

news

पाकुड़, 14अक्टूबर(हि.स.)। पाकुड़ नगर परिषद अध्यक्ष व कार्यपालक पदाधिकारी की रसाकसी के चलते पिछले कई महीनों से शहरी विकास का कार्य बिलकुल ठप हो गया है। इसका खामियाजा आम शहरी को उठाना पड़ रहा है। भाजपानीत नगर परिषद की अध्यक्ष संपा साहा ने कार्यपालक पदाधिकारी पर कांग्रेस समर्थित कुछ वार्ड पार्षदों के साथ मिलकर राजनीति करने का आरोप लगाया है। वहीं कार्यपालक पदाधिकारी गंगाराम ठाकुर ने भी नप अध्यक्ष पर मनमानी करने व जानबूझकर परेशान करने की बात कही है। दोनों ही एक दूसरे पर विकास कार्यों को बाधित करने का आरोप लगा रहे हैं। नप बोर्ड की पिछली बैठक में इसे लेकर कार्यपालक पदाधिकारी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव तक पारित कर डीसी सहित विभागीय सचिव तक को भेज कर कार्रवाई की मांग की जा चुकी है। उधर, दोनों की लड़ाई के चलते पूर्व में बोर्ड में पारित कई महत्वपूर्ण विकास योजनाएं फंड रहने के बावजूद शुरू नहीं की जा सकी हैं। इसमें मल्टी कल्चर मार्केट काॅम्पलैक्स तथा प्रधानमंत्री भूमिहीन आवास योजना के साथ ही वर्षों से लंबित व सर्वाधिक महत्वपूर्ण शहरी जलापूर्ति योजना कार्यालय क्षेत्राधीन भूमि की रजिस्ट्री तक अटकी पड़ी है।इसके अलावा नगर सौंदर्यीकरण योजना की निविदनिविदा का निष्पादन के साथ ही अन्य कई योजनाएँ स्वीकृति मिलने व फंड उपलब्ध रहने के बावजूद लटकी हुई है।मिली जानकारी के मुताबिक डीसी से लेकर विभागीय सचिव तक ने प्राप्त शिकायत के मद्देनजर कार्यपालक पदाधिकारी से स्पष्टीकरण तक पूछा है। नप अध्यक्ष संपा साहा ने स्वीकृत सभी योजनाओं के लिए पर्याप्त फंड रहने के बावजूद कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा जानबूझकर उनके कार्यान्वयन को बाधित कर उनकी छवि धूमिल करने का आरोप लगाया है।उन्होंने बताया कि मैंने इस संबंध में डीसी सहित विभागीय सचिव तक को अवगत करा दिया है।उधर कार्यपालक पदाधिकारी गंगाराम ठाकुर ने बताया कि कोविड- 19 के मद्देनजर कई काम नहीं किए जा सके हैं।शहर का सर्वांगीण विकास मेरी प्राथमिकता है। मैं कथित गुटबाजी से दूर रह कर अपना काम कर रहा हूं।मुझ पर पर लगाए गए सारे आरोप बेबुनियाद हैं।जहाँ तक वरीय पदाधिकारियों द्वारा मांगी गई जानकारी का सवाल है मैंने उन्हें उपलब्ध करा दिया है। जबकि डीसी कुलदीप चौधरी ने बताया कि मुझे सारी जानकारी मिली है। मैंने दोनों पक्षों को आपसी समन्वय बनाकर काम करने का निर्देश दिया है।फिर भी स्थिति नहीं सुधरती है तो विभाग को रिपोर्ट भेज दी जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/ रवि / वंदना-hindusthansamachar.in