नदी में बहे बच्चे  को खोज रही है एनडीआरएफ टीम
नदी में बहे बच्चे को खोज रही है एनडीआरएफ टीम
झारखंड

नदी में बहे बच्चे को खोज रही है एनडीआरएफ टीम

news

गिरिडीह, 12 सित म्बर ( हि.स. ) | मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चुंगलो गांव के पारा शिक्षक दीपक सिंह के पुत्र सुजल कुमार (12) का तीसरे दिन भी पता नहीं चल पाया। शनिवार की सुबह तक बच्चे का पता नहीं चला तो डीसी राहुल कुमार सिन्हा और एसपी अमित रेणु उस स्थान पर पहुंचे, जहां पर बच्चा डूबा था। एनडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंची। दो बोट में एनडीआरएफ के लोग बराकर नदी में भी उतरे और 10 किमी तक खोजबीन शुरू की है। जिउतिया व्रत के दिन से ही पुत्र सुजल के नदी में बेटे के बह जाने के कारण सुजल की मां लगातार रो रही है। गौरतलब है कि गुरुवार की शाम जिउतिया पर्व को लेकर गांव से होकर गुजरे बराकर नदी के नावाटांड़ घाट में महिलाएं नहाने गई थी। इसी दौरान दीपक सिंह का बेटा नहाने के क्रम में नदी में बह गया। बच्चे को बहते देख हो-हल्ला हुआ तो ग्रामीण दौड़ते-भागते आए और पानी में बहे बच्चे की तलाश में जुट गए। लेकिन कुछ पता नहीं चला। इस संदर्भ में डीसी राहुल कुमार सिन्हा ने कहा कि स्थानीय गोताखोरों के माध्यम से बच्चे को ढूंढने का प्रयास किया गया। लेकिन सफलता नहीं मिल सकी। अब एनडीआरएफ 9वीं बटालियन की टीम 20 किमी के रेडियस तक बच्चे को खोज रही है। अगर बच्चा तेज बहाव में मैथन की और बहा होगा तो वहां के प्रशासन को भी खबर कर दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार / कमलनयन/ वंदना-hindusthansamachar.in