दो लाख की  इनामी महिला नक्सली गिरफ्तार
दो लाख की इनामी महिला नक्सली गिरफ्तार
झारखंड

दो लाख की इनामी महिला नक्सली गिरफ्तार

news

गिरिडीह, 24 जुलाई ( हि. स. ) । नक्सली संगठन भाकपा माओवादी की महिला एरिया कमांडर सुनीता उर्फ कौशल्या उर्फ रमा उर्फ प्रतिमा को गिरिडीह पुलिस ने खुखरा थाना क्षेत्र के गम्हरा जंगल से गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि नक्सली के पास से कोई हथियार को बरामद नहीं हुआ। इस महिला एरिया कमांडर के खिलाफ बोकारो में जहां नौ नक्सली केस दर्ज है। वहीं गिरिडीह में सुनीता उर्फ रमा ने साल 2008 में पारसनाथ पहाड़ में हुए पुलिस-माओवादी इनकांउटर में यह शामिल रही। इसी प्रकार सुनीता ने साल 2010 में पीरटांड थाना क्षेत्र के गिरिडीह-डुमरी रोड स्थित पूरना नगर गांव समीप पुलिया में ही सिक्यूरिटी एजेंसी का वाहन विस्फोट कर उड़ाने में भी शामिल रही। इस घटना में एजेंसी के पांच सुरक्षा गार्डो की मौत हो गई थी। इन दो घटनाओं के बाद राज्य पुलिस मुख्यालय ने सुनीता उर्फ रमा पर दो लाख का इनाम घोषित कर रखा था। पुलिस को यह सफलता गुरुवार की शाम को उस वक्त मिली जब एएसपी दीपक कुमार को गम्हरा जंगल में माओवादियों के बैठक किए जाने की गुप्त सूचना मिली। इसके बाद एसपी अमित रेणु के निर्देश पर दो टीम गठित हुई। इसमें सैट-15 के पहले टीम का नेतृत्व खुद एसपी कर रहे थे। जबकि सीआरपीएफ 154 बटालियन के साथ एएसपी दीपक कुमार के साथ सीआरपीएफ के सैंकेड कमांडेट मूलचंद और अजय कुमार रजनीकर दुसरे टीम में थे। गुप्त सूचना के आधार पर दोनों टीम एक साथ सर्च ऑपरेशन चलाते हुए गम्हरा जंगल की चारों तरफ से घेराबंदी की। इस बीच पुलिस को देखते ही जहां कई माओवादी फरार होने में सफल रहे। वहीं सुनीता उर्फ रमा को सर्च ऑपरेशन की टीम पकड़ने में सफल रही। इधर महिला एरिया कमांडर की गिरफ्तारी के बाद शुक्रवार को पुलिस लाईन में प्रेसवार्ता कर एसपी अमित रेणु और एएसपी दीपक कुमार ने बताया कि सुनीता उर्फ रमा का मायका बोकारो के चतरोचट्टी थाना क्षेत्र के चेतेखरना गांव है। रमा बोकारो जिला की एरिया कमांडर है। लेकिन इसका ससुराल गिरिडीह के खुखरा थाना क्षेत्र के गम्हरा गांव है। प्रेसवार्ता मेंअधिकारियों ने बताया कि सुनीता उर्फ रमा का पति संतोष महतो उर्फ संजय महतो उर्फ वासुदेव भी नक्सली संगठन के रीजनल एरिया कमांडर के पद पर ही है। बताया कि सुनीता उर्फ रमा साल 2000 में नक्सली संगठन से जुड़ी। रमा पहले पीरटांड के हार्डकोर माओवादी नवीन मांझी के दस्ते से जुड़ी थी। नवीन मांझी पहले से ही जेल में बंद है। जेल जाने के बाद रमा गम्हरा निवासी संतोष महतो के संपर्क में आई। और संतोष के दस्ते से शामिल हो गई। दस्ते से जुड़ने के बाद ही संतोष और सुनीता उर्फ रमा ने शादी कर ली। सर्च ऑपरेशन के दौरान पुलिस गिरफ्त में आई महिला एरिया कमांडर रमा ने पूछताछ में कई राज उगले हैं। हिन्दुस्थान समाचार / कमलनयन / वंदना-hindusthansamachar.in