डीडीसी ने की विकास योजनाओं की समीक्षा
डीडीसी ने की विकास योजनाओं की समीक्षा
झारखंड

डीडीसी ने की विकास योजनाओं की समीक्षा

news

रांची, 22 सितम्बर (हि.स.)। रांची के उप विकास आयुक्त (डीडीसी) अनन्य मित्तल ने मंगलवार को मांडर प्रखंड में पहुंचकर विकास योजनाओं की समीक्षा की। उप विकास आयुक्त ने विशेष रूप से मनरेगा योजना की समीक्षा के क्रम में कम मानव दिवस सृजन के कारण मांडर, कैंबो, मलती पंचायत के ग्राम रोजगार सेवकों को स्पष्टीकरण का निर्देश दिया। उप विकास आयुक्त रांची ने कहा कि सभी पंचायत लक्ष्य के अनुरूप प्रतिदिन मानव दिवस सृजन करें। जिन मजदूरों और खाता पीएफएमएस से रिजेक्ट कर दिया गया है, उसे 1 सप्ताह के अंदर सुधार कर एमआईएस में फ्रिज करें । उन्होंने कहा कि प्रत्येक टोला में एक एक सोकपिट और कंपोस्ट पिट की योजना तथा प्रत्येक पंचायत में 5 रेन वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर की योजना लिया जाए। उप विकास आयुक्त ने निर्देश दिया कि सभी प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण में मनरेगा से 95 मानव दिवस चरणबद्ध तरीके से दिया जाए। ग्राम रोजगार सेवकों को संबोधित करने के समय उन्होंने कहा कि ग्राम रोजगार सेवक टोला-टोला में जाकर लोगों को जागरूक करें । मनरेगा की महत्ता को उनको समझाएं ताकि लोगों का विश्वास मनरेगा के प्रति बढ़े। उनके टोला में - उनके गांव में ही काम मिले जिससे कि अधिक से अधिक संख्या में मानव दिवस का सृजन किया जा सके। बैठक में प्रखंड विकास पदाधिकारी मांडर, परियोजना पदाधिकारी डीआरडीए, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी और प्रखंड के सभी पदाधिकारी तथा कर्मी उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास/विनय-hindusthansamachar.in