टुकड़ो में नही बल्कि संगठित हो कर एक बन कर बढ़ने की जरूरत है: अमर
टुकड़ो में नही बल्कि संगठित हो कर एक बन कर बढ़ने की जरूरत है: अमर
झारखंड

टुकड़ो में नही बल्कि संगठित हो कर एक बन कर बढ़ने की जरूरत है: अमर

news

रांची, 08 जुलाई ( हि.स.) झारखंड के पूर्व मंत्री सह चंदनकियारी विधायक एवं भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमर कुमार बाउरी ने कहा कि बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर का सूत्र वाक्य "शिक्षित बनो, संगठित रहो, संघर्ष करो" को जीवन में लागू कर ही दलित, गरीब और आदिवासी का भला हो सकता है। हमें टुकड़ो में नही बल्कि संगठित हो कर एक बन कर बढ़ने की जरूरत है तभी हम अपने अधिकार के आवाज़ को राज्य और केंद्र सरकार तक पहुंचा सकते है। बाउरी ने बुधवार को अपने आवास पर आयोजित अभिनंदन समारोह में मोर्चा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय और बाबा साहेब के आदर्श को हमे अपने जीवन मे उतारना है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने अंत्योदय की शुरुवात गरीब, दलित और आदिवासी से करने की बात कही थी। वहीं बाबा साहेब ने गरीब, दलित और आदिवासियों को उचित अधिकार के लिए संघर्ष किया था। बाबा साहेब ने उसे ही आधार बना कर संविधान की रचना की, जो आज हमारे अधिकार के लिए हथियार के तौर पर उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि झारखंड निर्माण के 20 वर्ष पूरे हो चुके है लेकिन पूर्व से लेकर अभी तक किसी भी राजनीतिक, गैर राजनीतिक या व्यक्तिगत रूप से अनुसूचित जाति के विषय पर किसी भी स्तर से विमर्श नही हुआ है। ऐसे में हमारी प्राथमिकता होगी कि हम सब मिल कर पहले तो सभी अनुसूचित जाति को एकत्र करें और फिर उनकी आवाज़ को सरकार तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि विश्व की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक पार्टी में अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष का दायित्व जितना सम्मानजनक है उतना ही चुनौती भरा है। आज भी झारखंड की अनुसूचित जाति नेतृत्व विहीन है। लेकिन हमें मिल कर एक परिवार की तरह उन तक पहुंचना है और फिर उनकी समस्या का निराकरण करना है। बाउरी ने कहा कि वर्तमान में विपक्ष के तौर पर हमारी जिम्मेदारी बढ़ जाती है। क्योंकि हमे अपनी बातों को सरकार तक पहुंचाने के साथ साथ सरकार के गैर संवैधानिक कार्यों पर अंकुश भी लगाना है। मौके पर उन्होंने सभी का स्वागत करते हुए सब के सहयोग की अपेक्षा की। इस अवसर पर पर सिमरिया के विधायक किशुन दास ने कहा कि आज का दिन भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के लिए खुशी का दिन है कि मोर्चा को युवा नेतृत्व अमर कुमार बाउरी के रूप में मिला है। पिछली सरकार में मंत्री पद पर रहते हुए इन्होंने राज्य के हित में कई उत्कृष्ट कार्य किये है और मुझे उम्मीद है कि अनुसूचित जाति के लिए भी वे बेहतर काम करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले 20 वर्ष में जो आवाज़ सरकार तक नही पहुंची है वो आवाज़ अब जरूर पहुंचेगी और इसके लिए मोर्चा के सभी कार्यकर्ताओं का सहयोग नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष को मिलेगा। कार्यक्रम में अनुसूचित जाति मोर्चा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पूर्व सांसद ब्रज मोहन राम ने कहा कि मोर्चा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष अमर कुमार बाउरी का पूर्व में भी मोर्चा के साथ संबंध रहा है। लेकिन नई जिम्मेदारी भी चुनौतीपूर्ण है। मुझे उम्मीद है कि अमर कुमार बाउरी इस जिम्मेदारी को बेहतर रूप से पूरा करेंगे और पार्टी में अनुसूचित जाति मोर्चा को पहले पायदान पर पहुंचाएंगे। इस कार्य मे मोर्चा के सभी लोगों का पूर्ण सहयोग प्रदेश अध्यक्ष को मिलेगा। कार्यक्रम में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नीरज पासवान, पूर्व कोषाध्यक्ष राजेन्द्र, अनुसूचित जाति आयोग के प्रभारी शिवधारी राम, पूर्व प्रदेश महामंत्री निताय रजवार सहित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे। हिंदुस्थान समाचार /विनय/सबा एकबाल-hindusthansamachar.in