झामुमो ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र,  सात व्यक्तियों की अनिवार्यता को समाप्त  करने की मांग की
झामुमो ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, सात व्यक्तियों की अनिवार्यता को समाप्त करने की मांग की
झारखंड

झामुमो ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, सात व्यक्तियों की अनिवार्यता को समाप्त करने की मांग की

news

रांची, 18 अक्टूबर (हि. स.)। झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने शारदीय नवरात्र एवं दुर्गोत्सव संपन्न करवाने संबंधित सरकारी निर्देश पर पुनर्विचार करने के लिए रविवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है। झामुमो महासचिव सह प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने बताया कि पत्र के माध्यम से मांग की गई है कि सात व्यक्तियों की अनिवार्यता को समाप्त करते हुए धार्मिक उपासना के लिए अधिकतम एवं आवश्यक 25 लोगों के साथ पूजन संपन्न करवाने की अनुमति प्रदान की जाए। हर पूजा समितियों को यह अनुमति मिले कि वे अपने पूजन स्थलों से ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग कर वैदिक मंत्रोचार संपूर्ण पूजन कर्मकांड पुष्पांजलि के मंत्र चंडी पाठ एवं प्रातः और शाम आरतीयों का प्रसारण सुनिश्चित कर सकें। उन्होंने बताया कि पत्र के माध्यम से आग्रह किया गया है कि वैदिक घट विसर्जन एवं मां दुर्गा प्रतिमा के निरंजन के वक्त पुरोहित, ढाक ढोलक वादक सहित अधिकतम 25 लोगों के साथ सामाजिक दूरी बनाकर तथा मुंह में मास्क लगाकर एवं हाथों में दस्ताने पहनकर विसर्जन की अनुमति प्रदान करने की स्वीकृति की जाए। भट्टाचार्य ने बताया कि पत्र की प्रतिलिपि मुख्य सचिव और डीजीपी को भी भेजी गई है। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण/वंदना-hindusthansamachar.in