जिला विकास समन्वय व मूल्यांकन समिति दिशा की बैठक
जिला विकास समन्वय व मूल्यांकन समिति दिशा की बैठक
झारखंड

जिला विकास समन्वय व मूल्यांकन समिति दिशा की बैठक

news

हजारीबाग, 12 सितंबर(हि.स.)।सांसद जयंत सिन्हा की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति (दिशा) की बैठक शनिवार को सूचना भवन में हुई। बैठक में बिजली विभाग के अधिकारियों को स्वास्थ्य उपकेंद्रों में बजली कनेक्शन दिए जाने, जले अथवा खराब ट्रांसफरमर की मरम्मति जल्द करने, बिल में सुधार को लेकर कैम्प आयोजित करने, बिजली सब स्टेशन व अन्य परियोजनाओं के लिए वन विभाग से फारेस्ट क्लीयरेन्स के लिए कार्यपालक अभियंता को समयबद्ध तरीके से पूरा करने का निर्देश दिया गया। बिजली विभाग की शिकायतें व कार्यप्रणाली को देखते हुए अध्यक्ष सह सांसद ने उपायुक्त को बिजली विभाग की अलग से समीक्षा कर समाधान के लिए प्रयास करने की बात कही। शहरी व ग्रामीण आबादी के लिए निर्मित पानी टंकी को चालू करने, निर्माण कार्य के दौरान क्षतिग्रस्त पानी पाइप लाइनों को तुरंत ठीक कर जलापूर्ति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। उपायुक्त ने पीएचईडी विभाग को संवेदनशीलता के साथ कार्य करने की बात कही। बैठक में सभी प्रखंडों में पशु चिकित्सक की प्रतिनियुक्ति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया साथ ही पशु चिकित्सकों की शत प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने की बात कही गई। पथ निर्माण की धीमी गति को तेज करने का निर्देश दिया गया। मौके पर पथ निर्माण विभाग द्वारा बताया गया कि चैपारण-पदमा पथ निर्माण पूर्ण कर लिया गया है। शिक्षा विभाग द्वारा ज्ञान सेतु एप एवं डीजी-साथ एप से बच्चों की हो रही पढ़ाई की बात बताई गई। विधायकों ने प्राइवेट विधालयों द्वारा मनमाने तरीके से फीस लिए जाने के संबंध में सरकार के दिशानिर्देश की कॉपी उपलब्ध करने की बात जिला शिक्षा पदाधिकारी से की, ताकि इस प्रकार के घटनाक्रम पर रोक लगाया जा सके। मनरेगा के तहत प्रवासी मजदूरों को अधिक कार्य दिए जाने की बात कही। मनरेगा के तहत प्रखंडों में बन रहे आंगनवाड़ी केंद्रों के कार्यों की मॉनिटरिंग सूक्ष्म तरीके से करने की बात उपायुक्त ने कही। साथ ही इसकी जानकारी मुखिया को देने पर जोर दिया गया। यह भी बताया गया कि 26 हजार प्रवासी अकुशल मजदूरों को जॉब कार्ड निर्गत किया गया है, जिसमें से लगभग 10 हजार लोग काम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभुकों के चयन में कमीशन, दलाली, पैसा लेकर गरीबों को आवास दिलाने के लिए पारदर्शी व्यवस्था बहाली करने हेतु स्वीकृत, प्रतीक्षारत लाभुकों की सूची पंचायत भवन में प्रदर्शित करने का निदेश प्रखंड प्रशासन को दिया गया। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में कई कोरन्टीन सेंटर में संक्रमित व्यक्ति के भोजन, पानी की लचर व्यवस्था की विधायकों ने शिकायत की। इस पर सिविल सर्जन को मामले की जाँच कर व्यवस्था ठीक करने का निर्देश दिया गया। सांसद ने अस्पताल में कोरोना के अलावे अन्य मरीजों के लिए स्वास्थ्य सुविधा, संस्थागत प्रसव को बढाने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया। प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बन रहे अथवा निर्मित सड़कों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने निर्देश दिया गया। बैठक में डीएमएफटी फंड से ग्राम स्तर पर मिनी जलमीनारों को अविलंब सुदृढ़ कराकर चालू कराने की भी मांग की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सांसद सह अध्यक्ष जयंत सिन्हा, सदर विधायक मनीष जायसवाल, माण्डू विधायक जय प्रकाश भाई पटेल व सूचना भवन में बरही विधायक उमा शंकर अकेला, बरकट्ठा विधायक अमित यादव, उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद, डीडीसी अभय कुमार सिन्हा, डीएफओ, नगर आयुक्त माधवी मिश्रा, प्रशिक्षु आईएएस सौरभ कुमार भुवानिया, डीआरडीए निदेशक उमा महतो, जनप्रतिनिधि व जिला स्तरीय पदाधिकारी मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/शाद्वल/विनय-hindusthansamachar.in