जांच में खामी पाई गई तो होगी कड़ी कार्रवाई: एसडीएम
जांच में खामी पाई गई तो होगी कड़ी कार्रवाई: एसडीएम
झारखंड

जांच में खामी पाई गई तो होगी कड़ी कार्रवाई: एसडीएम

news

रांची, 3 1 जुलाई (हि.स.) । कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर रांची जिला के सभी रेस्टोरेंट एवं फूड आउटलेट को केवल होम डिलीवरी की अनुमति दी गई है। इसी के मद्देनजर खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता जांच करने के लिय उपायुक्त के निदेश पर अनुमण्डल दण्डाधिकारी लोकेश मिश्रा की अगुवाई में जांच टीम गठित कर रांची के विभिन्न फूड आउटलेट से सैंपल कलेक्शन के लिए भेजा गया। इस दौरान रांची के मेन रोड, अरगोड़ा बाज़ार एवं एचबी बाज़ार के विभिन्न स्थानों से टीम द्वारा सैंपल कलेक्ट कर जांच के लिए भेजा गया है। शुक्रवार को रांची के विभिन्न मुख्य बाजार एवं चौक चौराहों के फूड आउटलेट और मिष्टान भंडारों के खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता जांच के लिय टीम गठित कर भेजी गई। एसडीएम रांची की अगुवाई में जांच के लिए भेजी गई टीम ने विभिन्न रेस्टोरेंट, मिष्टान भंडार एवं खाद्य पदार्थों की होम डिलीवरी करने वाले अन्य दुकानों से सैंपल कलेक्ट कर जांच के लिए भेज दी गई है। अनुमण्डल पदाधिकारी लोकेश मिश्रा ने बताया कि, "कोविड 19 के दौरान किसी भी रेस्टोरेंट या मिठाई की दुकानों इत्यादि पर बैठ कर खाने की अनुमति नहीं हैं। इसलिए कई भोजनलयों द्वारा खाने-पीने के सामान, मिठाई इत्यादि की होम डिलीवरी शुरू की गई है। इस दौरान आमजनों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े और गुणवत्तापूर्ण खाद्य पदार्थ ही लोगों के घरों तक पहुंचायी जाये, एहतियातन जांच टीम का गठन कर जांच अभियान शुरू किया गया है।" "सैंपल की जांच रिपोर्ट में अगर किसी भी आउटलेट के सैंपल में कोई अमान्य पदार्थ पाया जाता है या गुणवत्ता में कमी पाई जाती है, जिससे कि जानमाल के क्षति होने की आशंका हो तो वैसे लोगों के खिलाफ सुसंगत धाराओं के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अभी इस तरह के जांच अभियान आगे भी चलाये जाएंगे।" हिंदुस्थान समाचार/ विकास/ विनय-hindusthansamachar.in