जनसेवा नहीं अपनी झोली भर रहे रामगढ़ के सरकारी चिकित्सक : नीरज प्रताप
जनसेवा नहीं अपनी झोली भर रहे रामगढ़ के सरकारी चिकित्सक : नीरज प्रताप
झारखंड

जनसेवा नहीं अपनी झोली भर रहे रामगढ़ के सरकारी चिकित्सक : नीरज प्रताप

news

रामगढ़, 16 अक्टूबर (हि.स.) । रामगढ़ के स्वास्थ्य व्यवस्था एक बार फिर भाजपा नेता के निशाने पर है। पूर्व सांसद प्रतिनिधि सह भाजयुमो नगर अध्यक्ष नीरज प्रताप सिंह ने सिविल सर्जन और सरकारी चिकित्सकों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने बयान जारी कर कहा है कि सरकारी चिकित्सक जनसेवा नहीं कर रहे, बल्कि वे अपनी झोली भर रहे हैं। उन्होंने इस मुद्दे पर डीसी संदीप सिंह और एसडीओ कीर्ति श्री से भी शिकायत की है। उन्होंने कहा है कि सदर अस्पताल में पदस्थापित डॉक्टर स्वराज सरकारी ड्यूटी के समय में भी अपने निजी क्लीनिक में व्यस्त रहते हैं। उनकी इस लापरवाही के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। नीरज प्रताप सिंह ने कहा कि डॉ स्वराज रामगढ़ ब्लॉक स्थित नारायणी सेवा सदन में अपने सरकारी ड्यूटी के समय अपनी सेवा दे रहे थे। डॉक्टर स्वराज को ना तो प्रशासन और ना ही सरकार का कोई डर है। क्योंकि इन्हें पता है कि विभाग में कहीं ना कहीं पैसे देकर सेटिंग कर ली जाएगी और कोई इनका बाल भी बांका नहीं कर पाएगा। सिविल सर्जन कार्यालय पर आरोप लगाते हुए कहा की जिले का सिविल सर्जन कार्यालय आजकल दलालों का अड्डा बना हुआ है। जिले के डॉक्टर निश्चिंत हैं कि यदि कोई शिकायत होगी तो उन पर कोई कार्यवाही नहीं की जाएगी। नीरज ने कहा कि इस मुद्दे को लेकर उनकी बात सिविल सर्जन डॉक्टर नीलम चौधरी से भी हुई। लेकिन इस गंभीर विषय पर कार्रवाई करने के बजाय उन्होंने लिखित शिकायत की मांग की।भाजयुमो नेता ने उपायुक्त से मांग की कि जल्द से जल्द ऐसे डॉक्टरों पर कड़ी कार्रवाई की जाए, ताकि भविष्य में कोई ऐसी लापरवाही ना बरतें। पूरे मामले की होगी जांच : एसडीओ इस मुद्दे पर एसडीओ कीर्ति श्री ने बताया कि उन्हें चिकित्सक द्वारा बरती जा रही लापरवाही की शिकायत मिली है। वे इसकी जांच करेंगी। अगर चिकित्सक दोषी पाए जाते हैं तो उन पर कार्रवाई भी होगी। हिन्दुस्थान समाचार/ अमितेश/ वंदना-hindusthansamachar.in