छात्रा से दुष्कर्म व हत्या के खिलाफ आक्रोशित आदिवासी छात्र संगठनों ने फूंका सीएम का पुतला
छात्रा से दुष्कर्म व हत्या के खिलाफ आक्रोशित आदिवासी छात्र संगठनों ने फूंका सीएम का पुतला
झारखंड

छात्रा से दुष्कर्म व हत्या के खिलाफ आक्रोशित आदिवासी छात्र संगठनों ने फूंका सीएम का पुतला

news

दुमका, 17अक्टूबर(हि. स.)। संताल परगना महाविद्यालय दुमका के समीप आदिवासी छात्र संगठन, दुमका ने सीएम हेमंत सोरेन का पुतला दहन शनिवार को किया। पुतला दहन रामगढ़ में पंचम कक्षा की 12 वर्षीय की नाबालिग छात्रा के ट्यूशन से लौटते वक्त अपराधियों ने दर्दनाक सामूहिक दुष्कर्म कर हत्या के विरोध में की है। छात्र संगठन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं स्थानीय पुलिस प्रशासन की कड़ी निंदा करते हुए पुतला दहन किया। साथ ही इस घटनाओं का अंजाम देने वाले दरिंदे को अभिलंब गिरफ्तारी कर फांसी की सजा देने की मांग किया। इस घटना से बीते कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र बरहेट के अंतर्गत पतना प्रखंड में एक आदिवासी बहन के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर हत्या की मामला सामने आया था। जो कि सरकार इस विषय पर अभी तक गंभीरता से नहीं लिया है। साथ ही कठोर से कठोर कदम अपराधियों के खिलाफ नहीं उठाने एवं अपराधियों की गिरफ्तारी भी अब तक नहीं होने से छात्रों में आक्रोश व्याप्त है। छात्रों ने कार्रवाई नहीं होने से अपराधियों का मनोबल बढ़ना और रेप बलात्कार हत्या की घटना दिन-ब-दिन बढ़ने का कारण बताया है। जो आज महिलाओं एवं समाज के लिए बहुत ही घातक है। महिलाएं अपने आप को असुरक्षित महसूस करती है। इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार को नई कानून "फांसी बिल" कठोर से कठोर सजा देने के लिए प्रावधान का मांग किया। छात्र प्रतिनिधि पीड़ित परिवार को अस्पताल में समुचित व्यवस्था नहीं मिलने से भी आक्रोशित दिखे। इस अवसर पर दर्जनों छात्र उपस्थित थे। हिंदुस्थान समाचार/नीरज/विनय-hindusthansamachar.in