गोलीकांड से पहले सुंदरम कंपनी के मालिक और लिफ्टर से मांगी गई थी रंगदारी
गोलीकांड से पहले सुंदरम कंपनी के मालिक और लिफ्टर से मांगी गई थी रंगदारी
झारखंड

गोलीकांड से पहले सुंदरम कंपनी के मालिक और लिफ्टर से मांगी गई थी रंगदारी

news

रामगढ़, 17 अक्टूबर (हि.स.) । जिले के गोला रेलवे साइडिंग पर हुई गोलीकांड ने जिला प्रशासन को चौंका दिया है। इस वारदात से तीन दिन पहले गोला रेलवे साइडिंग पर तैनात सुंदरम कंपनी के कर्मचारियों को अपराधियों ने धमकी भी दी थी। इस मामले की पुष्टि डीएसपी हेडक्वार्टर प्रकाश सोए ने की है। शनिवार को पूरे दिन पुलिस अपराधियों की शिनाख्त के लिए सारे हथकंडे अपनाती रही। लेकिन उनके हाथ कुछ भी नहीं लगा। डीएसपी हेड क्वार्टर ने बताया कि गोलीकांड में दो सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं। लेकिन दोनों ही खतरे से बाहर हैं। डीएसपी हेड क्वार्टर ने बताया कि पूछताछ के दौरान सुरक्षा कर्मी विनोद राम और मोहम्मद अख्तर ने यह बताया कि बुधवार की शाम बाइक पर सवार तीन लड़के रेलवे साइडिंग पर पहुंचे थे। उन लोगों ने रंगदारी की मांग की थी और नहीं देने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी। जब बाइक सवार युवकों ने उन्हें धमकाना शुरू किया तो सुरक्षाकर्मी भी गुस्से में आ गए। इस दौरान दोनों के बीच काफी नोकझोंक हुई। इसी बीच काफी महिलाओं का जमावड़ा वहां लग गया। इसके बाद युवक वहां से भाग निकले। गोला रेलवे साइडिंग पर वर्चस्व जमाने के लिए अपराधियों ने चलाई गोली रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार ने बताया कि गोला रेलवे साइडिंग पर वर्चस्व को लेकर यह गोली चलाई गई है। उन्होंने बताया कि बोकारो स्थित सुंदरम कंपनी का कोयला गोला रेलवे साइडिंग पर आता है। यहीं से लोकल लिफ्टर के द्वारा कोयले की ट्रांसपोर्टिंग बोकारो तक की जाती है। लोकल लिफ्टर और कंपनी के मालिक दोनों ही अपराधियों के निशाने पर हैं। अक्सर उन्हें धमकियां भी मिलती हैं। तीन दिन पहले भी जब धमकी मिली थी, तो कंपनी के लोगों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। उन्होंने किसी प्रकार की सूचना ना तो आरपीएफ को दी और ना ही गोला पुलिस को इस बारे में बताया। लेकिन अपराधियों के मनोबल को तोड़ने के लिए पुलिस ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। जल्द ही अपराधी पुलिस की गिरफ्त में होंगे। हिन्दुस्थान समाचार/अमितेश/वंदना-hindusthansamachar.in