गबन जांच के लिए एसपी  पहुंचे शिकारीपाड़ा
गबन जांच के लिए एसपी पहुंचे शिकारीपाड़ा
झारखंड

गबन जांच के लिए एसपी पहुंचे शिकारीपाड़ा

news

दुमका, 07 सितंबर (हि.स.)। जिले के शिकारीपाड़ा मुख्यालय स्थित भारतीय स्टेट बैंक के मैनेजर मनोज कुमार द्वारा 86 लाख रूपए गबन मामले में जांच करने एसपी अंबर लकड़ा सोमवार को शिकारीपाड़ा पहुंचे। मामले में एसपी ने बताया कि मैनेजर के द्वारा गबन का मामला समाने आया है। गबन में अन्य बैंक कर्मी की संलिप्तता है। मामले में बैंक के वरीय पदाधिकारी ने लिखित शिकायत की है। मामले में तकनीकी छानबीन की जा रही है। जांच के लिए एसआईटी टीम का गठन किया गया है। पुलिस फरार मैनेजर की गिरफ्तारी में जुटी है। एसपी ने बताया कि पहली प्राथमिकता है कि जो कैश अलग-अलग तरीके से ट्रांजक्शन हुआ है। किस कारण से हुआ है पुलिस तहकीकात कर रही है। साथ ही गैरकानूनी रूप से कैश की निकासी हुई है, उसके पुलिस रिकरी जल्द करेगी। गौरतलब है कि बैंक मैनेजर साहिबगंज निवासी मनोज कुमार द्वारा कैशियर को 5 लाख का चेक देकर दस लाख पचास हजार रूपए नगद लेकर गोड्डा मुख्य शाखा जाने की बात कह बाकी पैसा लौटा देने की बात कही। उसके बाद से ही शाखा प्रबंधक गायब है। गड़बड़ी का खुलासा तब हुआ जब शिकारीपाड़ा के पलासी गांव के पिंटू दत्ता को मोबाइल में लगभग 86 लाख रुपए निकासी का मैसेज किस्तों में मिला। जब उन्होंने शाखा प्रबंधक से बात की तो उन्होंने सर्वर सही नहीं होने का बहाना बना दिया। पिंटू दत्ता ने फिर शिकारीपाड़ा थाना में आवेदन देकर मामले की जानकारी दी। लेकिन थाना से पूछताछ करने गए पदाधिकारी को भी शाखा प्रबंधक ने सर्वर नहीं होने की बात कही । मामले की जानकारी होने पर क्षेत्रीय कार्यालय गोड्डा रेंज के आरएम ने दुमका के शाखा प्रबंधक को शिकारीपाड़ा जाकर जांच करने का निर्देश दिया। मामले में 79 लाख रुपए की गड़बड़ी होने की बात सामने आयी। साथ ही एसबीआई के एटीएम में भी 26 लाख रुपए की गड़बड़ी होने की बात पता चल रहा है। पुलिस ने एटीएम को सील कर दिया है एवं शाखा प्रबंधक के खिलाफ कांड संख्या 79/20 कैसियर सुधीर बाउरी के बयान पर धारा 406 ,420 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर छानबीन में जुट गई थी। हिन्दुस्थान समाचार/ नीरज/ वंदना-hindusthansamachar.in