कांग्रेस ने सोशल मीडिया के माध्यम से वीडियो अपलोड कर जनविरोधी नीतियों का प्रतिकार किया
कांग्रेस ने सोशल मीडिया के माध्यम से वीडियो अपलोड कर जनविरोधी नीतियों का प्रतिकार किया
झारखंड

कांग्रेस ने सोशल मीडिया के माध्यम से वीडियो अपलोड कर जनविरोधी नीतियों का प्रतिकार किया

news

रांची, 26 सितम्बर (हि. स.)। केंद्र सरकार द्वारा संसदीय परंपरा और नियमों की अनदेखी कर कृषि संबंधी तीन विधेयक पारित किये जाने के विरोध में शनिवार को जहां सभी जिलों में संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर जोरदार तरीके से अपनी बात रखी गयी। वहीं स्पीक अप फॉर फॉमर्स कार्यक्रम के तहत पार्टी के सभी मंत्रियों, विधायकों, सांसदों, पूर्व विधायक, पूर्व सांसद और वरिष्ठ नेताओं-पदाधिकारियों तथा कार्यकत्ताओं ने सोशल मीडिया के माध्यम से वीडियो अपलोड कर जनविरोधी नीतियों का प्रतिकार किया। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता ने बताया कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सह मंत्री रामेश्वर उरांव, विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, मंत्री, बन्ना गुप्ता, बादल के अलावा सभी विधायकों, सांसदों और कार्यकारी अध्यक्षों, प्रदेश प्रवक्ताओं, मीडिया पैनेलिस्ट और मीडिया विभाग के सदस्यों ने अलग-अलग जिलों में संवादददाता सम्मेलन कर कृषि से संबंधित तीन जनविरोधी विधेयकों के प्रावधान से जनता को अवगत कराने का काम किया। प्रवक्ताओं ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने तीन कृषि विधेयक पारित किये हैं। यह किसान और भारतीय कृषि को तबाह करने के लिए तैयार किये गये है। इसके खिलाफ देशव्यापी ऑनलाइन अभियान स्पीक अप इंडिया कार्यक्रम के तहत पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, विधायक दल के नेता, मंत्री बन्ना गुप्ता, बादल पत्रलेख, प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे,लाल किशोरनाथ शाहदेव,डा राजेश गुप्ता छोटू ,अमूल्य नीरज खलखो,सन्नी टोप्पो,बेलस तिर्की, निरंजन पासवान,सतीश पाल मुंजीनि समेत कई नेताओं ने सोशल मीडिया फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर वीडियो अपलोड कर किसानों की आवाज को बुलंद करने का काम किया। वीडियो अपलोड कर पार्टी नेताओं ने किसानों के खिलाफ खेती विरोधी तीन काले कानून वापस लेने, न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी और मंडी व्यवस्था खत्म न होने की गारंटी देने की मांग की गयी। प्रदेश कांग्रेस सोशल मीडिया प्रभारी गजेंद्र सिंह ने बताया कि आज सुबह से ही सोशल मीडिया के सभी प्लेटफार्मों पर यह हैशटैग टॉप पर रहा। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण/विनय-hindusthansamachar.in