कम पानी और बीज से धान की अधिक पैदावार संभव: बीटीएम

कम पानी और बीज से धान की अधिक पैदावार संभव:  बीटीएम
कम पानी और बीज से धान की अधिक पैदावार संभव: बीटीएम

मेदिनीनगर, 25 जुलाई (हि.स.)। पलामू जिले के किसान कम पानी और बीज से धान की अधिक पैदावार ले सकते हैैं।परंपरागत विधि से धान की खेती करने से ही अधिक पैदावार संभवना रहती है। उक्त बातें रामगढ़ प्रखंड के बीटीएम संजय कुमार ने हुतार पंचायत के हुटार गांव में आयोजित कृषक पाठशाला में प्रशिक्षण ले रहे किसानों को बतायी। उन्होंने बताया कि श्री विधि में 10-15 दिन के या दो पते के पौधे को लगाया जाता है।पौधे की रोपाई 25 सेंटीमीटर की दूरी पर लाइन में की जाती हैं।एक बार में एक पौधे को लगाया जाता है। इस विधि से एक एकड़ खेत में धान रोपने के लिए सिर्फ 2 किलो ग्राम बीज की आवश्यकता होती है क्योंकि एक किलोग्राम धान में लगभग 40000 दाने होते हैं।इस तरह 2 किलोग्राम बीज में 80000 दाने होते हैं।जबकि 1 एकड़ खेत में 10 इंच की दूरी पर एक-एक पौधा लगाने में लगभग 64000 पौधे की आवश्यकता पड़ती है । जिसके लिए 2 केजी बीज पर्याप्त है। कृषक पाठशाला में उपस्थित आत्मा के उप परियोजना निदेशक प्रवीण राज ने किसानों को जानकारी दी की विधि में प्रति पौधे औसतन 40 से 50 कल निकलते हैं। जो अधिकतम 80 तक जा सकते हैं इस विधि से खेती करने पर परंपरागत विधि की तुलना में दो से 3 गुना ज्यादा उपज होती है। कृषक पाठशाला के संचालक राजेश राम ने बताया कि श्री विधि को इस पंचायत में अधिक से अधिक प्रचार प्रसार किया जाएगा ताकि किसान अधिक उपज ले सके। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/ सबा एकबाल-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.