ईट राइट इंडिया अभियान की हुई शुरुआत, 2 महीने तक चलेगा जागरूकता कार्यक्रम
ईट राइट इंडिया अभियान की हुई शुरुआत, 2 महीने तक चलेगा जागरूकता कार्यक्रम
झारखंड

ईट राइट इंडिया अभियान की हुई शुरुआत, 2 महीने तक चलेगा जागरूकता कार्यक्रम

news

रामगढ़, 16 अक्टूबर (हि.स.) । जिले में इंडिया अभियान की शुरुआत शुक्रवार को डीसी संदीप सिंह ने की। समाहरणालय परिसर से शुरू हुआ यह अभियान अगले 2 महीनों तक जारी रहेगा। डीसी ने बताया कि "ईट राइट इंडिया" कार्यक्रम एफएसएसएआई का एक प्रमुख कार्यक्रम है। इसका उद्देश्य लोगों द्वारा अपने सुरक्षित भोजन, स्वस्थ और पोषित आहार के माध्यम से अच्छे स्वास्थ्य को सुनिश्चित करना है। यह देखते हुए कि जीवन में भोजन की आदतें जल्दी बनती हैं और उसके बाद उन्हें बदलना मुश्किल होता है। कार्यक्रम का फोकस युवा वर्ग पर है। स्कूल एक ऐसी जगह है जहां स्वस्थ भोजन की आदतें बन सकती हैं। युवा परिवर्तन के बड़े भागीदार होते हैं और पूरे परिवार को प्रभावित करने की उनकी क्षमता काफी प्रभावशाली होती है। ईट राइट क्रिएटिविटी चैलेंज का उद्देश्य छात्रों की रचनात्मक प्रतिभा को निखारने और उन्हें स्वस्थ आहार संबंधी आदतों को के प्रति जागरूक करना है। प्रतियोगिता का उद्देश्य स्कूलों में स्वस्थ और सुरक्षित भोजन के वातावरण को बनाना है। जिससे छात्रों को भोजन और पोषण पर आदतों को विकसित करने के लिए उत्साहित और सक्षम बनाया जा सके। डीसी संदीप सिंह ने बताया कि प्रतियोगिता 16 अक्टूबर से 16 दिसंबर तक होगी। 'ईट सेफ, ईट हेल्दी" विषय पर छात्रों के द्वारा स्वस्थ संतुलित आहार, स्थानीय मौसमी खाद्य पदार्थ शामिल करना, नमक और चीनी के उच्च खाद्य पदार्थों का सेवन कम करना, हमारे आहार से ट्रांस फैट्स को खत्म करना, भोजन की हानि, जल का संरक्षण, सुरक्षित और टिकाऊ पैकेजिंग के उपयोग पर विचार दिए जाएंगे। कोविड-19 के दौरान खाद्य सुरक्षा 'में कोविड -19 रोग के प्रसार को रोकने के लिए व्यक्तिगत और आसपास की स्वच्छता, खाद्य सुरक्षा और पोषण शामिल हैं। कार्यक्रम में तीसरी से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थी भाग ले सकते हैं। इसके तहत 16 अक्टूबर से 16 दिसंबर तक विद्यार्थियों को जागरूक किया जाएगा। इन दो महीनों के चैलेंज में विद्यार्थियों को शिक्षक पौष्टिक खाने की महत्ता बताने के लिए गतिविधियां करवाएंगे। यह प्रतियोगिता रीजनल और नेशनल लेवल पर होगी। डीसी ने बताया कि पुरस्कार वितरण समारोह मार्च में होगा। प्रतियोगिता में प्रत्येक स्कूल की तरफ से पोस्टर मेकिग में सर्वश्रेष्ठ तीन और फोटोग्राफी में पांच तस्वीरें अपलोड करनी होंगी। पोस्टर मेकिंग को दो भागों में विभाजित किया गया है। पहले भाग में तीसरी से पांचवीं कक्षा और दूसरे भाग में छठी से आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थी भाग ले सकते हैं। रीजनल लेवल पर विजेताओं को एक हजार रुपये दिए जाएंगे, जबकि राष्ट्रीय लेवल पर पहला पुरस्कार 10 हजार रुपये, दूसरा 7500 रुपये, तीसरा पांच हजार रुपये और सांत्वना पुरस्कार पाने वालों को दो हजार रुपये दिए जाएंगे। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी विद्यार्थियों को सर्टिफिकेट दिए जाएंगे। इसी तरह से फोटोग्राफी में नौवीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थी भाग ले सकते हैं। स्कूलों को अपने विद्यार्थियों की टाप पांच एंट्रीज भेजनी होगी। जो विद्यालय इस कार्यक्रम में भाग लेना चाहते हैं उन्हें www.fssai.gov.in/creativitychallenge वेबसाइट पर अनिवार्य रूप से निबंधन कराना होगा। स्कूलों को अपने विद्यार्थियों की टॉप 5 एंट्री को fssai.gov.in/creativitychallenge पर अपलोड करना होगा। हिन्दुस्थान समाचार/अमितेश/ वंदना-hindusthansamachar.in