रामनगर सीनियर सिटीजंस क्लब की इकाई ने कोविड-19 जागरूकता अभियान को दोबारा किया शुरू
रामनगर सीनियर सिटीजंस क्लब की इकाई ने कोविड-19 जागरूकता अभियान को दोबारा किया शुरू
जम्मू-कश्मीर

रामनगर सीनियर सिटीजंस क्लब की इकाई ने कोविड-19 जागरूकता अभियान को दोबारा किया शुरू

news

उधमपुर/रामनगर, 23 जुलाई (हि.स.)। रामनगर सीनियर सिटीजंस क्लब की इकाई ने कोविड-19 के शुरुआती दौर में तहसील भर में लोगों को जागरूक करने के लिए हजारों पर्चे वितरण करके एक अभियान चलाया था। इस प्रसार ने कोरोना के प्रति सावधानियाँ अपनाने में लोगों को काफी हद तक जागरूक किया था। वहीं अब उधमपुर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़ रही है, इसलिए सीनियर सिटीजंस क्लब उधमपुर की कार्यकारिणी निकाय के परामर्श से रामनगर इकाई ने सोशल मीडिया, टेलिफोनिक संचार, ई-मीटिंग और क्लब के युवा प्रचारकों के द्वारा सुरक्षित तरीके से घर-घर समुदाय को अतिरिक्त सतर्क रहने के लिए प्रेरित करने का जागरूकता अभियान पुनर्जीवित करते हुए लोगों को आगाह किया कि कोरोना सामुदायिक फैलाव की ओर बढ़ रहा है। इसलिए इस से बचाव के लिए मास्क पहने, सामाजिक दूरी को बनाए रखें, सैनिटाइजर से हाथों को धोएं और अधिक आवश्यक परिस्थिति में ही घरों से बाहिर निकलें। इसकी जानकारी रामनगर क्लब की इकाई के अध्यक्ष शिवदेव सिंह ने एक प्रैस विज्ञप्ति जारी करके दी। क्लब ने प्रत्येक वृद्धावस्था पैंशन भोगी तक पहुँच कर उनकी समस्याओं के बारे में जानने के लिए फैसला किया है। इस संबंध में रामनगर तहसील के प्रत्येक वरिष्ठ नागरिक को सलाह दी गई है कि वे अपनी किसी भी समस्या को किसी भी संचार के माध्यम से क्लब की शिकायत सेल के साथ सांझा करें। निवारण हेतु उनकी समस्याओं को स्थानीय प्रशासन और जिला प्रशासन के संज्ञान में लाया जाएगा। रामनगर इकाई ने पेयजल की कमी, बिजली और क्षेत्र में सड़क संपर्क की खराब स्थितियों के बारे में गंभीर चिंता व्यक्त की है। सरकार पर जोर दिया गया चूंकि तहसील ज्यादातर गरीब आबादी की है। इसलिए हर घर में बच्चों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए एंड्रॉइड फोन रखने की स्थिति नहीं है। सरकार को बिना ब्याज और न्यूनतम प्रबंधनीय किश्तों पर वित्तीय मदद और बैंकिंग ऋण प्रदान करने के लिए एक विशेष योजना शुरू करनी चाहिए। 4जी नेट की सुविधा न होने के प्रति एक गंभीर चिंता दिखाई गई, जिसने स्कूली बच्चों के भविष्य को तबाही के कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। क्योंकि 2जी नेटवर्क बेकार है और इस पहाड़ी तहसील के बड़े क्षेत्र में उपलब्ध नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/बलवान-hindusthansamachar.in