भारत-चीन सीमा विवाद पर राजनाथ सिंह का लोकसभा बयान, दोनों देशों को करना चाहिए एलएसी का सम्मान
भारत-चीन सीमा विवाद पर राजनाथ सिंह का लोकसभा बयान, दोनों देशों को करना चाहिए एलएसी का सम्मान
जम्मू-कश्मीर

राजनाथ सिंह के बयान से बौखलाई चीन ने दी युद्ध की धमकी

राजनाथ सिंह के बयान से बौखलाई चीन ने दी युद्ध की धमकी

mukesh tiwari

राजनाथ सिंह के बयान से बौखलाई चीन ने दी युद्ध की धमकी. रक्षामंत्री राजनाथ स‍िंह के चीनी सेना के घुसपैठ पर द‍िए बयान पर चीन की सरकारी मीडिया को तीखी म‍िर्ची लगी है। इस बयान से भड़के चीन के अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स के एडिटर ने तो भारत को धमकी तक दे डाली।

भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के लोकसभा में चीनी सेना की पोल खोलने पर पर ड्रैगन का सरकारी भोपू ग्‍लोबल टाइम्‍स भड़क उठा है। चीन के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स के एडिटर हू शिजिन ने कहा कि चीन शांति और युद्ध दोनों ही के लिए तैयार है। उन्‍होंने दावा किया कि चीनी सेना के दबाव की वजह से भारतीय सेना नरम रुख अपनाने पर मजबूर हुई है।

शिजिन ने दावा किया कि पीएलए पैंगोंग झील के पास भारत-चीन सीमा पर निर्णायक कार्रवाई के लिए अपनी तैनाती को बढ़ा रही है। ग्‍लोबल टाइम्‍स के एडिटर ने कहा कि बीजिंग को चीन-भारत सीमा विवाद को शांतिपूर्वक सुलझाने के लिए प्रयास करते रहना चाहिए लेकिन अपनी सेना को तैयार रखना होगा। उन्‍होंने कहा कि भारत में कई अलग-अलग ताकते हैं। कुछ अति राष्‍ट्रवादी हैं जिन्‍होंने आसान रास्‍ते पर जाने से मना कर दिया था और कहा था कि वे अपने सख्‍त रुख पर बने रहेंगे।

'चीनी सेना भारत को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार'

श‍िजिन ने चीनी विदेश मंत्रालय को सलाह दी कि वह भारत के साथ वार्ता करते समय उसी भाषा का इस्‍तेमाल करें जो भारत समझता है। इससे पहले शिजिन ने कहा था कि चीनी सेना भारतीय टैंकों का खात्‍मा करने का अभ्‍यास कर रहे हैं। उन्‍होंने यह भी धमकी दी कि अगर भारत ने मास्‍को में विदेश मंत्रियों के बीच हुई पांच सूत्री सहमति को लागू नहीं करता है तो चीनी सेना भारत को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार है।

इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को लोकसभा में चीन की पोल खोलकर रख दी थी। सिंह ने सदन को चीनी सेना की पूरी गतिविधियों के बारे में बताया। उन्‍होंने बताया कि किस तरह चीनी सैनिकों ने यथास्थिति को बदलने की एकतरफा कोशिश की। उन्‍होंने भारतीय सेना के शौर्य की तारीफ करते हुए कहा कि हम अपनी सीमा की सुरक्षा में सफल रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि इस तनावभरे माहौल में 'हमारे बहादुर जवानों ने जहां संयम की जरूरत थी वहां संयम रखा तथा जहां शौर्य की जरुरत थी, वहां शौर्य प्रदर्शित किया।