mehbooba-mufti-expressed-condolences-to-the-house-of-martyr-policeman-suhail-in-srinagar-terror-attack
mehbooba-mufti-expressed-condolences-to-the-house-of-martyr-policeman-suhail-in-srinagar-terror-attack
जम्मू-कश्मीर

महबूबा मुफ्ती ने श्रीनगर आतंकी हमले में शहीद पुलिसकर्मी सुहैल के घर जाकर व्यक्त की संवेदना

news

अनंतनाग, 20 फरवरी (हि.स.)। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती शनिवार को जम्मू-कश्मीर पुलिस के शहीद जवान सुहैल अहमद के शोक संतप्त परिवार के साथ सहानुभूति व्यक्त करने के लिए अनंतनाग जिले के लोगरीपोरा ऐशमुकम क्षेत्र में स्थित उनके घर पहुंची। इस दौरान महबूबा मुफ्ती ने शहीद की पत्नी औेर मां से बातचीत कर उनकेे साथ अपनी संवेदना प्रकट की। सुहैल अहमद शुक्रवार को बागात बरजुल्ला में आतंकी हमले में शहीद हुए थे। सुहैल के अलावा इस आतंकी हमले में एक अन्य पुलिसकर्मी भी शहीद हुआ था। इस दौरान पत्रकारों से बात करते हुए महबूबा ने केंद्र से पाकिस्तान और जम्मू-कश्मीर के लोगों के साथ बातचीत करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि सरकार को यह सोचना चाहिए कि कब तक जम्मू कश्मीर के लोग, उसके पुलिसकर्मी और युवा अपने जीवन का बलिदानं करेंगे। उन्होंने कहा कि यह (कश्मीर मुद्दा) एक बहुत बड़ा मुद्दा है और इस मुद्दे को सुलझाया जाना चाहिए ताकि जम्मू-कश्मीर में खूनखराबा रुक जाए और यहां के लोग शांति से रहें। उन्होंने सुहैल अमद के बारे में बात करते हुए कहा कि उसके दो छोटे बच्चे हैं । उन्होंने कहा कि सुहैल अहमद सिर्फ चार साल का था जब उसके पिता को भी मार दिया गया था। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कम से कम केंद्र शासित प्रदेश में हिंसा को रोकने के लिए बातचीत शुरू की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार को सोचना चाहिए और बातचीत की प्रक्रिया शुरू करनी चाहिए, ताकि रक्तपात रुके। उन्होंने कहा कि हमारे कब्रिस्तान भरे हुए हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को बातचीत की प्रक्रिया शुरू करनी चाहिए - (लोगों के साथ) यहां और पाकिस्तान के साथ क्योंकि वे अक्सर कहते हैं कि पाकिस्तान यहां हिंसा करता है। कम से कम हिंसा को रोकने के लिए बातचीत की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। हिन्दुस्थान समाचार/बलवान