जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल जगमोहन के निधन पर लखनपुर किले वाले मंदिर के महंत शांतिगिरी जी महाराज ने शोक व्यक्त किय

जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल जगमोहन के निधन पर लखनपुर किले वाले मंदिर के महंत शांतिगिरी जी महाराज ने शोक व्यक्त किय
mahant-shantigiri-ji-maharaj-of-lakhanpur-fort-temple-expressed-condolences-on-the-death-of-former-jammu-and-kashmir-governor-jagmohan

कठुआ 4 मई (हि.स.)। जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल जगमोहन का दिल्ली में सोमवार को निधन हो गया। 94 वर्षीय जगमोहन बीते कुछ समय में बीमारी से जूझ रहे थे। वहीं पूर्व राज्यपाल जगमोहन के निधन पर लखनपुर में स्थित किले वाले मंदिर के महंत शांतिगिरी जी महाराज ने शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि जगमोहन जी का निधन हमारे राष्ट्र के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है, वह अनुकरणीय प्रशासक और विद्वान थे। जिस समय वह जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल थे, उस समय उन्होंने जम्मू कश्मीर की बेहतरी की दिशा में काम किया था, जिसे लोग आज भी याद करते हैं। महंत शांति गिरी जी महाराज ने बताया कि जिस वक्त जम्मू कश्मीर के प्रवेश द्वार लखनपुर में परमिट सिस्टम था, उस दौरान किले वाले मंदिर में आबकारी विभाग का कार्यालय था, बाद में लखनपुर के महल से आबकारी विभाग का कार्यालय स्थानांतरित किया गया था। उस वक्त जम्मू कश्मीर के तत्कालीन राज्यपाल जगमोहन स्वंय लखनपुर पहुंचे और उन्होंने ब्रह्मलीन श्री श्री 1008 पूर्ण गिरी जी महाराज को किले वाला मंदिर सौंपा था। हिन्दुस्थान/समाचार/सचिन/बलवान