जम्मू कश्मीर के पत्रकारों को कोविद-19 का टीका लगाया जाना चाहिए: रमन सूरी

जम्मू कश्मीर के पत्रकारों को कोविद-19 का टीका लगाया जाना चाहिए: रमन सूरी
jampk-journalists-should-be-vaccinated-for-kovid-19-raman-suri

जम्मू, 03 मई (हि.स.)। भाजपा के जम्मू-कश्मीर के कार्यकारी सदस्य रमन सूरी ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय, राज्य, इलेक्ट्रॉनिक, प्रिंट या सोशल मीडिया से जुड़े पत्रकार पिछले एक साल से अधिक समय से अपने जीवन को जोखिम में डालकर कोरोना महामारी से संबंधित रिपोर्टिंग करने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं और उनको तुरंत कोरोना का टीका लगाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कई युवा लड़कियां और लड़के जो कोविद-19 नामित अस्पतालों, भीड़भाड़ वाले स्थानों से रिपोर्टिंग कर रहे हैं और सरकारी ब्रीफिंग में लगातार भाग ले रहे हैं, उनके इस वायरस की चपेट में आने की आशंका बनी रहती है और उन्हें कोरोना का टीका लगाया जाना चाहिए। विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर सभी पत्रकारों को शुभकामनाएं देते हुए रमन सूरी ने कहा कि अपने कर्तव्यों के प्रति काम करने वाले पत्रकारों की प्रतिबद्धता, प्रेस की स्वतंत्रता और पत्रकारिता में नैतिकता को देखते हुए, उन्हें भी सर्वाेच्च प्राथमिकता सूची में रखा जाना चाहिए और समूचे जम्मू व कश्मीर में उनका टीकाकरण किया जाना चाहिए। उन्होंने उन लोगों को भी याद किया जिन्होंने ड्यूटी के दौरान अपनी जान गवाईं और कहा कि समाज का यह वर्ग हमेशा सार्वजनिक मुद्दों को उजागर करता रहता है, सरकार के कार्यक्रमों और उनकी कमियों को उजागर करता है और इसके अलावा आम लोगों को उनके आसपास के परिवेश के बारे में सबसे कठिन समय में भी जागरूक करता है। उन्होंने फर्जी खबरों पर अंकुश लगाने के लिए पत्रकारों से आग्रह करते हुए कहा कि जो लोग सोशल मीडिया पर पोस्ट की जा रही गलत सूचनाओं और हानिकारक सामग्रियों का मुकाबला करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं, वे वास्तव में प्रशंसा के पात्र हैं। भाजपा नेता ने कहा कि यही कारण है कि आज हम उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से सभी पत्रकारों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण का आदेश देने का आग्रह कर रहे हैं, ताकि वे सुरक्षित रूप से काम करना जारी रख सकें। उन्होंने कहा कि कई पत्रकार भले ही वो प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक या सोशल मीडिया से हैं, वे नियमित रूप से अपने अथक कवरेज के साथ जम्मू-कश्मीर को अपडेट कर रहे हैं और महामारी पर डॉक्टरों और विशेषज्ञों की सलाह को भी सबके सामने पेश कर रहे हैं। रमन सूरी ने कहा कि उनमें से अधिकांश को उनकी आयु और मानदंडों के अनुसार पहले ही टीका लगाया जा चुका है और अब शेष लोगों को उनकी सुविधा के अनुसार कुछ नामित केंद्रों पर टीका लगाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सबसे पारदर्शी तरीके से पत्रकारिता को मजबूत करने के लिए उनके उत्पादन, वितरण और सामग्री की प्राप्ति के साथ व्यस्त, इन युवा काम करने वाले पत्रकारों की सेवाओं को यूटी के हित में मान्यता दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि लगभग हर जिले में काम करने वाले पत्रकार हैं, जिनमें से अधिकांश को उनके आयु के अनुसार टीका लगाया गया है, लेकिन शेष लोगों को अब प्राथमिकता दी जानी चाहिए। प्रदेश भाजपा के कार्यकारी सदस्य ने कामकाजी पत्रकारों से वायरस के खिलाफ सतर्क रहने और अपनी तथा अपने परिजनों की सुरक्षा के लिए सभी प्रोटोकॉल का पालन करने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा, वर्तमान संकट में उनका काम तलवार की धार पर चलने के समान है और विभिन्न क्षेत्रों की घटनाओं की रिपोर्ट करते समय उन्हें अतिरिक्त सतर्क रहने की जरूरत है। भीड़ से बचना, दिशानिर्देशों का पालन करना, मास्क पहनना, हाथों और अपने सामान को लगातार साफ करना और संक्रमित स्थानों से बचना शीर्ष प्राथमिकता पर होना चाहिए, हालांकि उन्हें ग्राउंड जीरो से रिपोर्टिंग करने की आवश्यकता होती है। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान