जम्मू-कश्मीर को शीघ्र राज्य का दर्जा बहाल करें: हर्ष देव

जम्मू-कश्मीर को शीघ्र राज्य का दर्जा बहाल करें: हर्ष देव
जम्मू-कश्मीर को शीघ्र राज्य का दर्जा बहाल करें: हर्ष देव

जम्मू, 25 जुलाई (हि.स.)। जम्मू-कश्मीर के लिए राज्य के दर्जे की बहाली की मांग करते हुए पैंथर्स पार्टी ने शनिवार को कहा कि वो 5 अगस्त को जिला और तहसील मुख्यालयों पर विरोध प्रदर्शन करेगी। इस दिन तत्कालीन राज्य को संघ राज्य क्षेत्र (यूटी) बनाया गया था। एनपीपी के चेयरमेन हर्ष देव सिंह ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता अपने-अपने जिलों और तहसीलों में इस दिन विरोध प्रदर्शनों का आयोजन करेंगे और डीसी, एसडीएम और तहसीलदारों को ज्ञापन सौंपेंगे, जिसमें जम्मू और कश्मीर को तत्काल राज्य का दर्जा देने की मांग की जायेगी, जिसे पिछले साल 5 अगस्त को यूटी बनाया गया था। इस सिलसिले में पार्टी के चेयरमेन की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में फैसला लिया गया। बैठक में बलवंत सिंह मनकोटिया प्रदेश अध्यक्ष, यश पॉल कुंडल राज्य अध्यक्ष युवा पैंथर्स के अलावा पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता भी उपस्थित थे। मीडियाकर्मियों से बात करते हुए हर्ष देव सिंह ने कहा कि एनपीपी ने धारा 370 को समाप्त करने का समर्थन किया था, लेकिन पार्टी ने जम्मू-कश्मीर के 200 साल पुराने ऐतिहासिक राज्य को खत्म करने और इसे यूटी बनाने का कड़ा विरोध किया था। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के इस कदम से न केवल तत्कालीन राज्य के लोगों का मनोबल गिरा है, बल्कि आम जनता के दिलों और दिमागों में भारी असंतोष है। उन्होंने कहा कि इससे वास्तव में हर समझदार नागरिक अपमानित और ठगा हुआ महसूस कर रहा है। इसने जम्मू के लोगों की भावनाओं को गहरी चोट पहुंचाई है, क्योंकि जम्मू-कश्मीर देश में एकमात्र डोगरा राज्य था, जिसे डोगरा शासकों द्वारा अनगिनत बलिदानों के साथ निर्मित किया गया था। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35 ए को निरस्त करने के बाद भी जम्मू क्षेत्र की उपेक्षा जारी है। सिंह ने कहा कि भाजपा जम्मू की विकास परियोजनाओं के मामले में भी लोगों से किए गए अपने किसी भी वादे को पूरा करने में विफल रही है। डोगरा भूमि वर्तमान शासन के ठंडे आपराधिक लापरवाही का शिकार बनी हुई है। उनहोंने कहा कि ऐसा लगता है कि कृत्रिम तवी झील, मुबारक मंडी हेरिटेज प्रोजेक्ट, केबल कार प्रोजेक्ट, स्मार्ट सिटी, एम्स सहित सभी परियोजनाएं ठप्प पड़ी हुई हैं। बेरोजगार युवा सड़कों पर हैं। 4जी कनेक्टिविटी वापस ले ली गई है और अनुच्छेद 370 निरस्त होने के बाद भाजपा की अगुवाई वाली सरकार की एकमात्र उपलब्धि कई टोल प्लाजाओं की स्थापना के रूप में दिखाई दी है। उन्होंने राज्य के दर्जे की बहाली के लिए पैंथर्स पार्टी के आंदोलन का समर्थन करने के लिए लोगों से आग्रह करते हुए जम्मू और कश्मीर के लोगों को तानाशाही और निरंकुश शासन से बचाने के लिए भारत के राष्ट्रपति के व्यक्तिगत हस्तक्षेप का भी आग्रह किया। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.