रिंग रोड परियोजना के तहत कम मुआवजा मिलने से जान गवाने वाले हरबंस लाल को मिले न्याय: कांग्रेस
रिंग रोड परियोजना के तहत कम मुआवजा मिलने से जान गवाने वाले हरबंस लाल को मिले न्याय: कांग्रेस
जम्मू-कश्मीर

रिंग रोड परियोजना के तहत कम मुआवजा मिलने से जान गवाने वाले हरबंस लाल को मिले न्याय: कांग्रेस

news

जम्मू, 23 जुलाई (हि.स.)। रिंग रोड के लिए करोड़ों रुपयों की जमीन को कौड़ियों के भाव अधिग्रहित करने और जबरन मकान को गिराने के सदमे से मारे गए बिशनाह के किसान हरबंस लाल के परिजनों के प्रति कांग्रेस पार्टी ने गुरूवार को सहानुभूति प्रकट की। पार्टी ने गत दिवस बिशनाह के गांव जिंद्रह में हरबंस लाल की हुई मौत पर गहरा दुःख व्यक्त किया जबकि एक साल के अंदर ही उनके परिवार में यह दूसरी मौत है। इससे पहले उसके बेटे की मौत हो गई थी। जेकेपीसीसी ने इसके लिए भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराया और मांग की कि मृतक के परिवार को पर्याप्त मुआवजे के अलावा उसकी और उसके बेटे की मौत की परिस्थितियों की स्वतंत्र जांच कराई जाये और उनको न्याय दिया जाये। पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रमन भल्ला और जेकेपीसीसी के मुख्य प्रवक्ता रविंदर शर्मा और शशि शर्मा ने आज मृतक के निवास का दौरा किया और उनसे सहानुभूति प्रकट की। उन्होंने कहा कि मृतक हरबंस लाल का परिवार बहुत तनाव में था क्योंकि अधिकारियों ने उसके घर और जमीन के मुआवजे का आकलन कौड़ियों में भाव में किया था जो प्रचलित बाजार दर की तुलना में बहुत कम था। इससे पहले उनके बेटे की मृत्यु इसी तरह के हालात में हुई थी। अब अधिकारियों ने दो दिन पहले उनके घर को गिराना शुरू कर दिया। परिवार ने उसकी मौत के लिए प्रशासन को दोषी ठहराया ओर कहा कि कम मुआवजा मिलने के कारण उनकी मौत हुई है। यह दुर्भाग्यपूर्ण और चौंकाने वाली बात है कि सरकार की गलत और अनुचित मुआवजा नीति के कारण एक दलित परिवार के दो व्यक्तियों ने अपनी जान गंवा दी, जिसके खिलाफ किसान पिछले कुछ वर्षों से विरोध प्रदर्शन कर रहे थे और उचित मुआवजे की मांग कर रहे थे। लेकिन भाजपा ने विरोध प्रदर्शनों के बावजूद लोगों की वास्तविक मांगों को नजरअंदाज कर दिया और अब गरीब लोग अपनी जान गंवा रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in