डी.एल.एस.ए ने वेबिनार के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस मनाया

डी.एल.एस.ए ने वेबिनार के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस मनाया
dlsa-celebrates-international-biodiversity-day-via-webinar

उधमपुर, 22 मई (हि.स.)। शनिवार को विश्व जैव विविधता दिवस मनाने के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण उधमपुर द्वारा ‘जैव विविधता का संरक्षण और जश्न मनाएं‘ पर एक वेबिनार का आयोजन सचिव डी.एल.एस.ए, उप न्यायाधीश रजनी शर्मा के कुशल मार्गदर्शन में किया गया। इस अवसर पर डी.एल.एस.ए की वरिष्ठ सदस्य रितु शर्मा ने पैनलिस्टों और प्रतिभागियों का स्वागत किया और विश्व पर्यावरण दिवस के उत्सव की प्रासंगिकता पर जोर दिया। पैनल के वकील अधिवक्ता पवन गुप्ता के अलावा जैव विविधता के विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ पैनलिस्ट थे और उन्होंने जैव विविधता के विभिन्न पहलुओं पर विचार-विमर्श किया, जिसमें बार सदस्यों सहित बड़ी संख्या में प्रतिभागियों ने भाग लिया। इस अवसर पर अधिवक्ता पवन गुप्ता ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने जैव विविधता के मुद्दों की समझ और जागरूकता बढ़ाने के लिए 22 मई को अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस घोषित किया है और इस वर्ष का थीम है ‘हम समाधान का हिस्सा हैं‘ है। प्रकृति-आधारित समाधानों से लेकर जलवायु, स्वास्थ्य के मुद्दों, खाद्य और जल सुरक्षा और स्थायी आजीविका तक, जैव विविधता वह आधार है जिस पर हम बेहतर तरीके से निर्माण कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि यूएनओ ने मानव स्वास्थ्य और अच्छा पोषण सुनिश्चित करने में प्रकृति की मौलिक भूमिका की जांच करके जैविक विविधता के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाया। जैव विविधता हमारा हिस्सा है, क्योंकि हम मनुष्य प्रकृति का हिस्सा हैं। सच्चाई यह है कि स्वस्थ प्रकृति और जैव विविधता के बिना, हमें गुणवत्तापूर्ण पोषण नहीं मिल सकता है, और गुणवत्ता वाले पोषण के बिना हमारा अच्छा स्वास्थ्य नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि इस दिन का मुख्य उद्देश्य सकारात्मक पर्यावरणीय कार्रवाई करना, प्रकृति और पृथ्वी ग्रह की रक्षा करना है। उन्होंने कहा कि जैव विविधता पर लगातार हमले हो रहे हैं। शहरी और बुनियादी ढांचे के विकास की आड़ में आर्द्रभूमि, मैंग्रोव और पहाड़ियां नष्ट हो रही हैं। प्रकृति हमें चेतावनी के संकेत दे रही है, फिर भी हम इसे अनदेखा कर रहे हैं। लोगों के लिए जागने, खड़े होने और प्रकृति के लिए बोलने का समय आ गया है। इस अवसर पर कई सदस्यों ने भी अपने विचार रखे। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/बलवान