पेयजल की समस्या को लेकर नगर परिषद अध्यक्ष सहित पार्षदों ने जल शक्ति विभाग के खिलाफ दिया धरना

पेयजल की समस्या को लेकर नगर परिषद अध्यक्ष सहित पार्षदों ने जल शक्ति विभाग के खिलाफ दिया धरना
councilors-including-the-city-council-chairman-staged-a-protest-against-the-water-power-department-over-the-problem-of-drinking-water

कठुआ 4 मई (हि.स.)। कठुआ शहर के वार्ड नंबर 10 में स्थित जल शक्ति विभाग के ट्यूबवेल का चेक बाल लीकेज की वजह से वार्ड में लोगों के घरों तक पेयजल सप्लाई ना पहुंच पाने की वजह से नगर परिषद अध्यक्ष सहित पार्षदों ने ट्यूबवेल पर धरना देकर जल शक्ति विभाग के खिलाफ रोष व्यक्त किया। मंगलवार को नगर परिषद अध्यक्ष नरेश शर्मा के साथ वार्ड नंबर 10, 11 और 12 के पार्षदों ने वार्ड नंबर 10 में स्थित जल शक्ति विभाग के ट्यूबवेल पर पेयजल की किल्लत की वजह से धरना प्रदर्शन किया। करीब आधे घंटे तक धरने पर बैठे नगर परिषद अध्यक्ष नरेश शर्मा ने बताया कि जल शक्ति विभाग अपना काम सही ढंग से नहीं कर रहा हैं। उन्होंने बताया कि वार्ड नंबर 10 में स्थित जल शक्ति विभाग के ट्यूबेल पर पिछले 2 साल से एक चेक बाल खराब पड़ा था, जिसकी वजह से हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह जाता था और लोगों के घरों तक पेयजल की सप्लाई नहीं पहुंच पाती थी। उन्होंने कहा कि मात्र पांच हजार रूपए के चेक बाल की वजह से वार्ड़ वासियों को पेयजल की किल्लत सैहनी पड़ रही थी, लेकिन जल शक्ति विभाग की इस ढीली कार्यप्रणाली की वजह से यह साबित हो गया है कि एसी कमरे में बैठे बाबू काम की ओर ध्यान नहीं देते हैं। जबकि करोड़ों रुपए का वेतन जम्मू कश्मीर सरकार द्वारा जारी किया जाता है। उन्होंने कहा कि जल शक्ति विभाग आम जनता को जागरूक करने के लिए “जल ही जीवन है“ जैसे विज्ञापन और इश्तिहार लगाते नजर आते है, लेकिन समय इनके अपनी ढीली कार्यप्रणाली की वजह से हजारों लीटर पेयजल व्यर्थ बह जाता है और आम लोगों तक पेयजल नहीं पहुंच पाता है। वही नगर परिषद अध्यक्ष द्वारा धरने पर बैठने की खबर सुनते ही जल शक्ति विभाग के कार्यकारी अभियंता सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और उन्होंने चेक बाल की मरम्मत कर पेयजल की सप्लाई को सुचारू किया। हिन्दुस्थान/समाचार/सचिन/बलवान