city-municipal-committee-chairperson-sasikanta-got-only-4-votes-in-floor-test-9-councilors-moved-no-confidence-motion-against-the-chairman
city-municipal-committee-chairperson-sasikanta-got-only-4-votes-in-floor-test-9-councilors-moved-no-confidence-motion-against-the-chairman
जम्मू-कश्मीर

नगरी म्यूनिसिपल कमेटी की अध्यक्ष शशिकांता को फ्लोर टेस्ट में मिले मात्र 4 वोट, 9 पार्षदों ने अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया

news

कठुआ, 26 फरवरी (हि.स.)। नगरी म्यूनिसिपल कमेटी की अध्यक्ष शशिकांता को फ्लोर टेस्ट में मात्र 4 पार्षदों ने विश्वास जताया जबकि 9 पार्षदों ने अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया है। नगरी म्यूनिसिपल कमेटी की अध्यक्ष शशिकांता की कुर्सी अब पूरी तरह खतरे में आ गई है। गौरतलब हो कि बीते 15 फरवरी को नगरी म्यूनिसिपल कमेटी के आठ सदस्यों द्वारा कमेटी के अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया था। जिसमें कमेटी के आठ सदस्यों ने कमेटी के ईओ अमित शर्मा को अपना अविश्वास प्रस्ताव पेश करते हुए कमेटी को भंग करने की मांग की थी। 13 सदस्यों वाली इस कमेटी के अध्यक्ष के खिलाफ वार्ड 8 के सदस्य अनिल सिंह अंडोत्रा की अध्यक्षता में एक बैठक हुई थी। इसमें कमेटी के वार्ड एक के सदस्य विमला देवी, वार्ड 5 के नरेश कुमार, वार्ड 6 के सुरेंद्र सिंह, वार्ड 9 की बीता रानी, वार्ड 12 के बबलू कुमार, वार्ड़ 4 के कुलभूषण कुमार और वार्ड 11 के तरसेम सैनी ने अपनी सहमति जाहिर करते हुए इस प्रस्ताव पर मुहर लगाई थी। वहीं शुक्रवार को ईओ अमित शर्मा की देखरेख में फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया को पूरा किया गया। जिसमें नगरी म्यूनिसिपल कमेटी के कुल 13 पार्षदों में से चार ने अध्यक्ष के पक्ष में वोट डाला जबकि 9 पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव जताया। वहीं वार्ड़ 8 के पार्षद अनिल सिंह अंदोत्रा ने कहा कि कमेटी की चेयरमैन शशीकांत वर्मा कमेटी में होने वाले किसी भी विकास कार्य के लिए सदस्यों की सहमति लेने के बजाय अपनी मर्जी से ही फैसले ले रही थी। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष की कार्यप्रणाली से पार्षद असंतुष्ट थे। जिसके चलते आज फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया में उन्हें 13 मे से मात्र चार सदस्यों ने सहमति जताई है। वहीं अब नगरी म्यूनिसिपल कमेटी के पार्षदों ने जिला प्रशासन से मांग की है कि जल्द से जल्द आगे की प्रक्रिया को पूरा किया जाए और अध्यक्ष और उपाध्य़क्ष के चुनाव करवाऐं जाऐं, ताकि नगरी कस्बे में विकास कार्य करवाऐं जाऐं। हिन्दुस्थान/समाचार/सचिन/बलवान