70 सालों में खुद तो कुछ कर नहीं पाए, जब भाजपा की सरकार ने किसानों के हित में विधेयक लाया, तो भ्रम फैलाकर इस पर राजनीति कर रहे- रघुनंदन सिंह बबलू
70 सालों में खुद तो कुछ कर नहीं पाए, जब भाजपा की सरकार ने किसानों के हित में विधेयक लाया, तो भ्रम फैलाकर इस पर राजनीति कर रहे- रघुनंदन सिंह बबलू
जम्मू-कश्मीर

70 सालों में खुद तो कुछ कर नहीं पाए, जब भाजपा की सरकार ने किसानों के हित में विधेयक लाया, तो भ्रम फैलाकर इस पर राजनीति कर रहे- रघुनंदन सिंह बबलू

news

कठुआ, 22 सितंबर (हि.स.)। भाजपा कठुआ इकाई द्वारा भाजपा कार्यालय लोगेट मोड़ में मंगलवार को एक पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया, जिसमें भाजपा जिला कठुआ अध्यक्ष रघुनंदन सिंह बबलू और अन्य नेताओं ने दो कृषि विधेयको का पक्ष लियाा। भाजपा जिला अध्यक्ष रघुनंदन सिंह बबलू ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि किसानों के कल्याण को ध्यान में रखते हुए संसद के समक्ष कृषि विधेयको को लाया गया है। उन्होंने कहा कि कृषि विधेयक किसानों के हित के लिए लाया गया है, लेकिन विपक्षी दल किसानों को गुमराह कर भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि इस बिल को गलत ढंग से पेश कर राजनीति की जा रही है। अध्यक्ष ने कहा कि किसानों के फायदे को ध्यान में रखते हुए यह कृषि विधेयक पास किया गया है। उन्होंने कहा कि यह बिल किसान के फायदे के लिए है जिस प्रकार पहले किसानों की मेहनत बिचैलिए खा जाते थे, लेकिन इस विधेयक से किसानों को बहुत फायदा होगा। इस बिल से बिचैलियों को बाहर का रास्ता दिखाया गया है किसान और खरीदार सीधे आपसी संपर्क में फसल को बेच खरीद सकते हैं। उन्होंने कहा कृषि विधेयको से किसान देश के किसी भी कोने में जाकर अपनी फसल को अच्छी कीमत पर भेज सकते हैं। वही विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए भाजपा के प्रवक्ता राहुल देव ने कहा कि विपक्षी पार्टियां किसानों को गुमराह कर झूठ फैलाने की कोशिश कर रही हैं। उन्होंने कहा कि वे मात्र किसान को भ्रम में डालकर राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 70 सालों में खुद तो कुछ कर नहीं पाए लेकिन जब भाजपा की सरकार ने किसानों के हित के लिए कोई विधेयक बनाया है तो उसे गलत ढंग से भ्रम फैलाकर इस पर राजनीति कर रहे हैं। राहुल देव ने कहा कि दो कृषि विधेयको से किसानों को उनके अपने उत्पाद बेचने के लिए सुविधा प्रदान की जाएगी इससे किसान मंडी के बाहर भी अनाज बेच सकेंगे। इस विधेयक के जरिए यह जानकारी भी दी जाएगी कि किस जगह कितना दाम चल रहा है और आगे चलकर आने वाले समय में क्या दाम रहने वाला है। इससे किसानों को फायदा होगा इसलिए उन्होंने किसानों से भी आग्रह किया है कि झूठ और भ्रम में ना आए इस विधेयक को समझें और इसका समर्थन करें क्योंकि यह बिल किसान के हित के लिए ही बनाया गया है। हिन्दुस्थान/समाचार/सचिल/बलवान-hindusthansamachar.in